जब भी किसी की शादी तय होती है तो आस-पास,पड़ोस और नाते-रिश्तेदार, दोस्त-यारों को निमंत्रण देने के लिए कार्ड छपवाए जाते हैं. कार्ड छपवाते वक्त घर वाले अच्छा और थोड़ा हटकर शादी का कार्ड चुनना चाहते हैं.शादी का कार्ड छपवाने के लिए घर वाले आपस में एक दूसरे से रॉय भी लेते है। सोशल मीडिया इस वक़्त एक ऐसा प्लेटफार्म बन चुका है जिस पर कोई भी फोटो या वीडियो अपलोड होते ही वायरल हो जाती है इस शादी के कार्ड को भी लोगो ने खूब पसंद किया और देखते ही देखते वायरल कर दिया। आइये आगे जानते है।

कभी-कभी कुछ लोग यूनीक करने के चक्कर में कुछ ऐसा कर जाते हैं जिसे देखकर मेहमान सोच में पड़ जाते हैं. इतना ही नहीं, जब ऐसे कार्ड सोशल मीडिया पर अपलोड किए जाते हैं तो वायरल होने में जरा भी वक्त नहीं लगता. शादी के कार्ड पर लिखी हुई चीजें बेहद ही मायने रखी जाती हैं. मेहमान अंदर-बाहर सभी चीजों को अच्छे से पढ़ते हैं. हरियाणा में एक परिवार ने हरियाणवी भाषा में कार्ड छपवाया.

फिलहाल, यह कार्ड कई साल पुराना है, लेकिन एक बार फिर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और इस कार्ड पर लिखी हुई चीजों को पढ़कर लोग बहुत ही हैरान हैं. ज़्यादतर आप हिंदी या इंग्लिश में ही शादी के कार्ड देखते हैं, लेकिन कार्ड पर क्षेत्रीय भाषा में लिखा हुआ हो ऐसा शायद ही देखने को मिले. कुछ ऐसा ही इस कार्ड में देखने को मिला.

हरियाणा के किसी परिवार ने इस कार्ड पर हरियाणवी भाषा में ही सबकुछ लिखवाया. कार्ड में सबसे पहले लिखा,’सबसे पहले गणेश महाराज जी की जय’.इसके बाद सबकुछ हरियाणवी भाषा में लिखा गया है. यहां तक कि दूल्हा और दुल्हन का नाम के आगे छौरा और छौरी लिखा गया है. सबसे मजेदार बात तो यह है कि न सिर्फ नाम बल्कि एड्रेस, प्रोग्राम और दिन-तारीख भी हरियाणवी भाषा में लिखी गई है. कार्ड पर छपी तारीखों से पता चलता है कि ये कार्ड साल 2015 का है।

इस कार्ड को देखकर लोग बेहद हैरान रह गए होंगे. इतना ही नहीं, जब मेहमानों ने इस कार्ड को देखा होगा तो वह शादी में आने से पहले सोच में पड़ गए होंगे. सोशल मीडिया पर यह खूब वायरल किया जा रहा है. दूल्हे ने अपनी शादी में जब यह कार्ड बांटा होगा तो खूब सुर्खियां बटोरी होगी. हालांकि, आज भी इस कार्ड को देखकर लोग खूब प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *