कौन हैं ये लीना खान? जिनकी इस वजह से Meta, WhatsApp और Instagram को बेचना पड़ सकता है?

January 15, 2022 by No Comments

इस वक्त सोशल मीडिया पर यह खबर काफी चोर पकड़े हुए हैं कि क्या फेसबुक जो कि मेटा हो चुका है और इंस्टाग्राम के साथ-साथ व्हाट्सएप ऐप को बेचा जा रहा है? दरअसल यह दोनों ही एप्स कंपनी के रेवेन्यू का बहुत बड़ा हिस्सा है। लेकिन कंपनी ऐसा क्यों करेंगे इसका कारण फेडरल ट्रेड कमिशन माना जा रहा है।

जिसका नेतृत्व लीना खान कर रही है बीते साल मार्च में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने लीना खान को कमीशन में अप्वॉइंट किया था। फेडरल ट्रेड कमिशन को हरी झंडी मिल गई है। जिसके बाद अब एंटी ट्रस्ट मामले में दिग्गज टेक कंपनी को कोर्ट में घसीटा जा सकता है। हालांकि से पहले बीते साल भी एजेंसी फेसबुक के खिलाफ कोर्ट जा चुकी है।

उस वक्त कोर्ट में कम जानकारी होने के कारण सुनवाई नहीं हो पाई थी। इस बार एफटीसी अपनी शिकायत में बदलाव के साथ दोबारा कब तक पहुंच गया है। एफटीसी का आरोप है कि सोशल नेटवर्क, क्षेत्र में Meta की मोनोपोली है। हालांकि, FTC की नजर सिर्फ सोशल मीडिया कंपनी Meta पर ही नहीं, बल्कि Amazon और गूगल पर भी है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि 33 साल की हुई ना खाना आखिर है कौन ? जिनका नाम एंटी ट्रस्ट इशू के साथ पुराने वक़्त से ही जुड़ा हुआ है। जब वह है यह लव स्कूल में हुआ करती थी। तब से ही अमेरिका में एंटीट्रस्ट और कंपटीशन लॉ काम के लिए जानी जाती हैं।

मार्च 2021 में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने उन्हें कमीशन में अपॉइंट किया और वह जून 2021 से काम कर रही हैं। इसके साथ ही वह Columbia Law School में एसोसिएट प्रोफेसर भी हैं। आपको बता दें कि साल 2012 में एफटीसी ने ही फेसबुक की 1 अरब डॉलर में इंस्टाग्राम के अधिग्रहण को मंजूरी दी थी। उस वक्त कंपनी में 13 कर्मचारी थे।

इसके दो साल बाद यानी साल 2014 में फेसबुक ने इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp को 19 अरब डॉलर में खरीदा। अब एफटीसी दलील दे रहा है कि फेसबुक ने क्रम से अपने कंपटीटर्स को खरीदा है और मोनोपोली बनाई

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *