पुलिस के हाथ आया देश का सबसे बड़ा चोर,5000 चोरी की कारें,3 पत्नियों के इलावा मुंबई,दिल्ली और…

September 8, 2022 by No Comments

दिल्ली- वैसे तो चो’रों के बारे में आए दिन अजीबोगरीब खु’लासे होते रहते हैं जिसमें कभी चो’र अजीब होता है तो कभी उसका चो’री करने का तरीका बहुत निराला हुआ करता है ऐसा ही एक मामला भारत की राजधानी दिल्ली से आया है जिसके बारे में सुनकर और उसके लाइफस्टाइल को जानकर कोई भी है’रान हो जाएगा जी हां यह मामला है देश की राजधानी दिल्ली का जहां इस अजीबोगरीब चो’र का पर्दा’फा’श हुआ है और इस वक्त वह पुलि’स की गिरफ्त में है।

भारत का सबसे बड़ा चो’र कहा जाने वाला यह शख़्स आखिरकार दिल्ली पुलि’स के हाथ लग गया है भारत का सबसे बड़ा कार चो’र बताया जा रहा है क्योंकि इस व्यक्ति पर अब तक 5000 से ज्यादा कारें चु’राने का आरो’प है जिसे उसने देश भर के अलग-अलग राज्यों से चो’री किया है। देश का सबसे बड़ा चो’र कहा जाने वाला ये व्यक्ति 52 वर्ष का है जिसका नाम अनिल चौहान है।अनिल की दिल्ली,मुंबई और उत्तर पूर्व में काफी संपत्ति तो है ही साथ ही इसकी 3-3 पत्नियां भी हैं।

दिल्ली पुलि’स का दावा है कि अनिल चौहान देश का सबसे बड़ा कार चो’र है और उसने पिछले लगभग 27 सालों में 5000 से ज्यादा कारों की चो’री की है अनिल चौहान की गि’रफ्ता’री पर बात करते हुए मध्य दिल्ली पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने गु’प्त सूचना के बाद देश बंधु गुप्ता रोड के इलाके से उसे ध’र दबो’चा दिल्ली पुलिस के अनुसार अनिल फिलहाल हथि’यारों की त’स्क’री में भी लि’प्त है और वह उत्तर प्रदेश से ह’थि’यार लेकर पूर्वोत्तर राज्यों में बैन कर दिए गए संगठनों को पहुंचा रहा था।

जानकारी के अनुसार अनिल चौहान 1995 में दिल्ली के खानपुर में रहा करता था और एक मामूली ऑटो चालक था उसके बाद उसने धीरे-धीरे अप’राध की दुनिया में कदम रखा और देखते ही देखते वह अब तक लगभग 5000 से ज्यादा कारें देश के अलग-अलग राज्यों से चो’री करता और उन्हें जम्मू कश्मीर उत्तर पूर्वी एवं नेपाल भेज दिया करता था।आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज से लगभग 7 साल पहले यानी 2015 में अनिल चौहान को असम की पुलि’स ने भी गि’रफ्ता’र किया था 5 साल तक जे’ल में रहने के बाद अनिल 2020 में रिहा हुआ था। अनिल चौहान पर अब तक 180 मामले दर्ज हैं और देश के अलग-अलग राज्यों में बेहिसाब प्रॉपर्टी भी हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.