युसूफ पठान को लगा बड़ा झटका, 10 साल में पहली बार इस टीम से..

January 8, 2021 by No Comments

क्रिकेट दुनिया में पठान ब्रदर्स का नाम हर कोई जानता है भले ही आज इंटरनेशनल क्रिकेट में इन दोनों भाइयों की जगह ना रही हो। लेकिन आज भी इनके नाम का डंका बजता है। खेल जगत के साथ-साथ पठान ब्रदर्स को सामाजिक और कल्याण के कामों के लिए भी जाना जाता है।

जब भी देश में कोई ना कोई मुसीबत आती है। तो यूसुफ पठान और इरफान पठान मिलकर लोगों की मदद के लिए सामने आते हैं अब कभी सामने आ रही है कि सैयद मुश्‍ताक अली टी20 ट्रॉफी 7 स्‍थानों पर 10 से 31 जनवरी के बीच खेली जाएगी। इस टूर्नामेंट में 38 टीमें हिस्‍सा लेंगी, जिन्‍हें 6 ग्रुप में बाटा गया है।

दरअसल कर्नाटक नेटवर्क ना मैटर के पिछले दो एडिशन में जीत हासिल की है और वह इस साल भी खिताबी हैट्रिक लगाने के मामले में ही मैदान में उतरे थे बड़ौदा टीम की बात की जाए तो टूर्नामेंट के लिए मुंबई इंडियंस के ऑलराउंडर कुणाल पांडे को कप्तान बनाया गया था इस टूर्नामेंट में दीपक हुड्डा कुणाल पांड्या के उत्तराधिकारी बने थे।

टीम से एक धाकड़ खिलाड़ी को बाहर कर रास्‍ता दिखाया गया है, जिनका नाम युसूफ पठान है। अनुभवी ऑलराउंडर 2007 से बड़ौदा का प्रतिनिधित्‍व करते हुए आ रहे हैं और वो दो बार की चैंपियन के दूसरे सर्वश्रेष्‍ठ रन स्‍कोरर हैं। पठान ने इस टूर्नामेंट में 28.27 की औसत से 1244 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका स्‍ट्राइक रेट 133.47 का रहा। उन्‍होंने करीब 13 साल इस टूर्नामेंट में हिस्‍सा लिया।

2019-29 सत्र में पठान ने बल्‍ले से अच्‍छा प्रदर्शन किया था। उन्‍होंने टूर्नामेंट में 136 रन बनाए थे और उनकी औसत 34 की थी। बड़ौदा के लिए पिछले संस्‍करण में सर्वश्रेष्‍ठ रन स्‍कोरर आदित्‍य वाघमोड़े थे। बाएं हाथ के बल्‍लेबाज ने 45.50 की औसत से 364 रन बनाए थे। इस दौरान उन्‍होंने तीन अर्धशतक जमाए थे।

38 साल के युसूफ पठान को आखिरकार टीम से बाहर का रास्‍ता दिखा दिया गया है। उम्र को देखते हुए यह कहना मुश्किल नहीं होगा कि युसूफ पठान की वापसी की उम्‍मीद कम है। सव्पिनल सिंह और क्रुणाल पांड्या के रहने से ऐसा लगता है कि युसूफ पठान के करियर पर पूर्ण विराम लगने वाला है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *