मायावती ने किया CM योगी का विरोध, सपा नेता बोले- क्या इसी के लिए सरकार बनी थी?

December 25, 2020 by No Comments

साल 2013 में उत्तर प्रदेश के मु’जफ्फ’रपुर में हुए दं’गों में भारतीय जनता पार्टी के 3 विधायकों समेत भाजपा नेताओं पर मुकदमे दर्ज हुए थे। इनमें भाजपा नेता संगीत सॉन्ग साध्वी प्राची का नाम भी शामिल है। अब उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ योगी सरकार ने इस कड़ी में बड़ा फैसला लिया है।

बताया जा रहा है कि योगी सरकार ने इन भाजपा नेताओं पर दर्ज किए गए मुकदमों को वापस लेने की याचिका दायर की है। योगी सरकार के इस फैसले पर अब उत्तर प्रदेश की सियासत गरमा गई है। बताया जा रहा है कि बहुजन समाज पार्टी की मुखिया और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भी विपक्षी पार्टियों के नेताओं के खिलाफ दर्ज हुए राजनीतिक मामलों को वापस लेने की मांग उठा दी है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा के लोगों के ऊपर राजनीतिक द्वे’ष की भावना से दर्ज मुकदमे वापस होने के साथ ही सभी विपक्षी पार्टियों के लोगों पर भी ऐसे मामले वापस जरूर होने चाहिए। यह बसपा की मांग है। इससे पहले समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

उन्होंने कहा, कमाल है भारतीय जनता पार्टी। क्या इसी के लिए सरकार बनी थी? मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री, मंत्री या विधायक हों, सब पर लगे केस वापस ले लिए जाएंगे। क्या इससे अ’पराधि’यों का मनोबल नहीं बढ़ेगा? क्या उनको ऐसा नहीं लगेगा कि आ’पराधि’क मुकदमे भी वापस लिए जा सकते हैं? यही वजह है कि SDM और CO की गो’ली मा’र कर ह’त्या कर दी जाती है। तभी यहां पुलिस वालों का ए’नकाउं’टर होने लगा है और महिलाओं पर अ’त्याचा’र बढ़े हैं।

आपको बता दें कि भाजपा नेताओं से मुकदमे वापस लेने के फैसले के बाद से ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर बनी हुई है। योगी आदित्यनाथ के इस फैसले पर विपक्षी दलों द्वारा सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *