भाजपा के हिं’दुत्व के मुद्दे पर भड़के ठाकरे, बोले- गोवा में बी’फ.. क्या ये आपका ?

October 26, 2020 by No Comments

महाराष्ट्र में कल विजय दशमी का त्यौहार बड़ी धूम-धाम से मनाया गया। इस मौके पर सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी पर प’लट’वार किया। राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी को मोहन भागवत के भाषण का पालन करने की सलाह दी। महाराष्ट्र में इस वक्त मुख्यमंत्री और राज्यपाल के बीच त’नात’नी चल रही है।

जिसके चलते मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा दी गई हिं’दु’त्व की परिभाषा को मानदंड बताते हुए एक चे’ताव’नी भी जारी की है। उन्होंने कहा है कि अगर हमें कोई चु’नौ’ती देना चाहता है तो अपने जो’खि’म पर ही दे। इस दौरान उद्धव ठाकरे ने भगत सिंह कोश्यारी का नाम लिए बिना कहा कि हमसे हिं’दु’त्व पर सवाल पूछे जा रहे हैं। क्योंकि हमने अपने राज्य में अभी तक अपने मं’दिर नहीं खोले हैं।

सबसे वि’वा’दित मुद्दों में से एक पर नि’शाना साधते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा पर आ’लोच’कों द्वारा दोयम दर्जे के आरोप लगाए गए हैं आप हमारे हिं’दुत्व के बारे में बात कर रहे हैं। इसलिए महाराष्ट्र में, आप गो’मां’स पर प्र’तिबं’ध लगा रहे हैं, लेकिन गोवा में आप गो’मां’स के साथ हैं, क्या यह आपका हिं’दु’त्व है?”

भाजपा के साथ आरा से संघ प्रमुख मोहन भागवत के विचारों का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि हिं’दुत्व सिर्फ पूजा से जुड़ा हुआ नहीं है। इसलिए का’ली टोपी पहने लोग और हमारी मान्यताओं पर सवाल उठाने वाले और हमें ध’र्मनि’रपेक्ष बताने वालों को आज भागवत का भाषण सुनना चाहिए।

जो लोग राज्यपाल को मानते हैं और उनका अनुसरण करते हैं। वह का’ले रंग की टोपी पहनते हैं। अगर आपके पास इस टोपी के नीचे दिमाग भी मौजूद है तो कम से कम मोहन भागवत और उनके बयानों का अनुसरण कर ले। इससे पहले सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा था कि उन्हें किसी से भी हिं’दु’त्व प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है और वह सा’वधा’नी से विचार करने के बाद इस मुद्दे पर बात करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *