महाराष्ट्र की सीएम कुर्सी पर मं’डरा’या ख’तरा, उद्धव ठाकरे का ये कदम…

April 10, 2020 by No Comments

दुनियाभर में इस वक़्त को’रो’ना वा’य’रस का सं’क’ट लगातार बढ़ता जा रहा है। बात की जाए भारत की तो को’रो’ना वा’य’रस से जो राज्य सबसे ज्यादा प्र’भा’वित हुआ है, वो है महाराष्ट्र। माना जा रहा है कि महाराष्ट्र में जिस तरह से को’रोना सं’क्रिम’तों की संख्या में इजाफा हो रहा है। वैसे राज्य में जारी लॉ’कडा’उन की अवधि बढ़ सकती है।

इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि को’रो’ना सं’क’ट’ के चलते राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर भी इसका ख’तरा मं’डरा रहा है। वह वर्तमान में राज्य के किसी भी सदन के सद’स्य नहीं हैं। यानी वह न तो विधायक है और न ही विधान परिषद के सदस्य ही हैं। गौरतलब है कि को’रो’ना सं’क’ट के कारण राज्य में होने वाले विधान परिषद के चुनाव को टा’ल दिया गया है।

वहीं 28 मई से पहले उन्हें किसी सदन का सदस्य बनना आवश्यक है। आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने पिछले साल नवंबर में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर श’पथ ली थी। संविधान की धारा 164 (4) के अनुसार ठाकरे को छह महीने के अंदर राज्य के किसी सदन का सदस्य होना अ’निवा’र्य है। उद्धव ठाकरे को दी गई छह महीने की छूट 28 मई को ख’त्म हो रही है।

विधायकों के कोटे से नौ विधान परिषद की सीटें 24 अप्रैल को खाली हो रही हैं और द्वि’वा’र्षिक चुनावों के दौरान ठाकरे को एमएलसी के रूप में चुना जाना तय था। लेकिन को’रो’ना वा’यरस म’हा’मा’री और पूर्ण देशबंदी के मद्देनजर चुनाव आयोग ने चुनाव ही टाल दिए हैं।

इस मामले में अगर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी मंत्रिमंडल की सि’फा’रिश मानकर सरकार द्वारा भेजे गए नाम पर सहमत हो जाते हैं तो ठाकरे की कुर्सी बच सकती है। मुख्यमंत्री ठाकरे के पास दूसरा विकल्प यह है कि वह अपनी छह महीने की अवधि पूरी होने से पहले मुख्यमंत्री पत्द से इ’स्ती’फा दे सकते हैं। इसके बाद वह दोबारा राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *