तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने सुनाई बड़ी खुशखबरी, मु’स्लिम देशों में सबसे पहले..

August 14, 2020 by No Comments

दुनिया भर में इस वक्त को’रोना वा’यरस के इलाज के लिए वैक्सीन ढूंढने की कवायद में कई बड़े साइंटिस्ट दिन रात लगे हुए हैं। गौरतलब है कि हाल ही में रूस ने यह ऐलान किया है कि उन्होंने को’रो’ना वै’क्सीन तैयार कर ली है। जिसके बाद दुनियाभर की निगाहें रूस पर जा टिकी है। इसी बीच तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने एक नई खुशखबरी सुनाई है।

आपको बता दें कि को’रोना महामा’री के बीच तुर्की की तरह से भी बेहद अच्छी खबर सामने आई है। जो ना सिर्फ तुर्कों को बल्कि मु’स्लिम देशो के लिए भी बेहद खुशी का सबब बनती नज़र आ रहे है। इसके बाद सभी देश तुर्की को मुबारक दे रहे है। कोरोना वै’क्सीन को लेकर अभी तक सभी देश एक दूसरे के सामने उम्मीद रखें हुए थे।

गौरतलब है कि तुर्की के राष्ट्रपति रजब तय्यब एर्दोगान ने 9 अगस्त को कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के आंकड़ों के अनुसार, यूएस और चीन तुर्की स्थानीय रूप से कोविड -19 के खिलाफ वैक्सीन विकसित करने वाला तीसरा देश बन गया है।

आपको बता दें कि उत्तर-पश्चिमी कोकेली प्रांत में गेब्ज़ जिले में तुबकाट (तुर्की के वैज्ञानिक और तकनीकी अनुसंधान परिषद) उत्कृष्टता केंद्र के उद्घाटन पर बोलते हुए, एर्दोआन ने कहा कि तुर्की ने राज्य और निजी क्षेत्रों और यूनिवर्सिटीज के साथ मिलकर कोविड-19 के टीके और ड्र’ग्स विकसित करने में बहुत प्रगति की है।

उन्होंने कहा, “कोविड-19 टर्की प्लेटफार्म, जिसे TİBAKTAK द्वारा स्थापित किया गया है, वर्तमान में आठ विभिन्न टीकों और 10 विभिन्न चिकित्सा परियोजनाओं [COVID-19 के लिए] पर काम कर रहा है।” उन्होने बताया दो टीकों का जानवरों पर परीक्षण पूरा हो गया है। उनमें से एक ने नैतिक मंजूरी भी प्राप्त की और मनुष्यों पर अपना नैदानिक चरण शुरू किया। गौरतलब है कि इस वक़्त दुनिया को बचाने के लिए कोरोना वैक्सीन बनाना बहुत जरूरी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *