एरदोगन के इस क़दम से तुर्की की ‘जीत’ तय, रूस और अमरीका दोनों से..

November 2, 2019 by No Comments

तुर्की और रूस में समझौते के बाद ऐसा माना जा रहा है कि उत्तरी सीरिया पर तुर्की से मतभेद समाप्त होंगे और जल्द ही सैन्य अभियान इस क्षेत्र में बंद होगा. तुर्की और रूस की सेना ने उत्तर-पूर्व क्षेत्र में संयुक्त गश्त लगाना शुरू कर दिया है. अब इस क्षेत्र से कुर्द पीछे हट गए हैं. तुर्की का हमला शुरू होने के बाद कुर्द इस सीमावर्ती इलाके से पीछ हट गए हैं.संयुक्त गश्त दो हिस्से में होगी.

तुर्की ने सीरिया की सीमा के भीतर पीस ज़ोन के क्षेत्र को माँगा है. तुर्की के सैनिक और सीरिया के विपक्षी गठबंधन के लड़ाकों का अब सीमा पर मौजूद ताल अबयाद, रास अल आइन और आस पास के गांवों पर नियंत्रण है. गश्त के लिए तय हुए इलाकों में कामिशली को छोड़ दिया गया है.तुर्की के रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया है कि तुर्की और रूस के सैनिकों, बख्तरबंद गाड़ियों और ड्रोन के साथ अल दारबासियाह इलाके में गश्त शुरू कर दी गई है.

आपको बता दें कि रूसी रक्रूषा मंत्सीरालय ने इसको लेकर एक बयान जारी किया है. इस बयान में कहा गया है कि संयुक्त गश्त में 9 सैन्य गाड़ियां शामिल हैं जिनमें एक रूसी बख्तरबंद सैनिक वाहन भी है और यह शुक्रवार को 110 किलोमीटर के रास्ते पर गश्त लगाएगा.शुक्रवार को गश्त लगाने वाली सैन्य गाड़ियों पर रूस या तुर्की का झंडा नहीं लगा था.

तुर्की और सीरिया की सीमा पर एसोसिएटेड प्रेस के एक पत्रकार ने सीरियाई सीमा की ओर एक मकान पर सीरिया का झंडा लहराते देखा. सीरिया की सरकारी सेना कुर्द इलाकों में पहुंच गई हैं. इसके लिए अक्टूबर में एक समझौता हुआ था.पिछले महीने तुर्की ने उत्तर पूर्वी सीरिया में हमला कर सीरियाई कुर्दों को पीछे धकेलना शुरू कर दिया था. तुर्की इन कुर्दों को आतंकवादी मानता है और इनका संबंध तुर्की में चल रहे अलगाववादी आंदोलन से जोड़ता है.

राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने सीरिया से अपनी फ़ौज वापिस बुलाने का फ़ैसला किया है. इसके बाद ही तुर्की ने सैन्य कार्यवाई शुरू की. अमेरिका और रूस के साथ हुए दो समझौतों के बाद तुर्की ने अपने हमले रोकने का एलान किया. इन समझौतों के तहत सीरियाई कुर्दों को सीमा से 30 किलोमीटर के इलाके से बाहर निकलने को कहा गया है ताकि तुर्की वहां अपना अभियान चला सके.