लापता हुआ विमान 37 साल बाद वापस लौटा, एअरपोर्ट पर हुआ लैंड हुआ तो नजारा देखकर..

June 9, 2020 by No Comments

यह कहना गलत नहीं होगा कि यह दुनिया जितनी सरल है। उतनी ज’टिल भी है। इसे समझो ना जितना आसान लगता है इतना मुश्किल भी है। कई बड़े-बड़े विज्ञानियों और जानकारों का है कहना है कि दुनिया में कई सारी ऐसी चीजें हैं जो काफी रहस्य्मय है। तेरी जैसी हैं जो अब तक अनसुलझी हैं और पहेली बने हुए हैं। इसे अक्सर चमत्कार के नाम से भी जोड़कर देखा जाता रहा है।

आज हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसी ही चीज के बारे में जो काफी रह’स्य’मई है। दरअसल यह एक ऐसी घटना है जो पिछले 37 साल से लेकर अब तक लोगों के लिए एक सवाल बनी हुई है और उसका जवाब अभी तक नहीं मिल पाया है। यूं तो इंसानों ने विज्ञान के जरिए तमाम देशों को हल कर दिया है। लेकिन कई चीजों का निर्माण भी किया है।

आज हमारे पास प्लेन से लेकर वह कई चीजें मौजूद हैं। जिनके बारे में कुछ सौ साल पहले किसी ने सोचा भी नहीं था। क्रां’ति’कारी आ’विष्का’र की बात की जाए तो हम प्लेन को सबसे बड़ा उदाहरण मान सकते हैं। हालाँकि यह बात और है कि आज भले ही हमने इसका नि’र्माण कर दिया है।

आज हम आपको एक ऐसे प्लेन के बारे में बताने जा रहे हैं जिस पर यकीन करना मुश्किल है. दरअसल हुआ कुछ यूँ कि फ़्लाईट नंबर 914, 1955 में न्यूयॉर्क से मयामी के लिए उड़ा लेकिन मंजिल तक नहीं पहुंचा और लापता हो गया। इसके बाद इसके 37 साल बाद यह ला’पता विमान पैरोटोस बेनोजोला हवाई अड्डे पर लैंड किया. यहाँ तक कि कंट्रोल टावर पर बात की। हालाँकि इस दौरान रडार स्क्रीन पर कुछ साफ तौर पर नहीं देखा गया।

लेकिन लैंड करने के साथ ही एक बार फिर से उड़ान भरने लगा और एक बार फिर से गायब हो गया जो अब तक लापता है। इसमें 57 यात्री थी जो प्लेन के साथ ला’पता हैं। इसके बारे में अब भी तमाम चीज़े हैं जिसे समझना बाकी है। आपको बता दें कि ऐसे की घ’ट’नाएं और भी हैं जो अब तक अनसुलझी हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *