असर वि’रोध का, नाग रिकता देने की प्रक्रिया में सर कार यह बद’लाव करने पर कर रही है वि’चार और..

January 14, 2020 by No Comments

पूरे देश में हो रहे वि’रोध के बीच केंद्र सर कार ने नाग रिकता कानू’न को लागू कर दिया है लेकिन अब खबर आ रही है कि सर कार इसे लागू करने की प्रक्रिया में बद लाव कर सकती है और यह सब कुछ कई राज्यों में हो रहे इसके विरो’ध को देखते हुए किया जा रहा है. आपको बता दें कि इस पूरे मामले को लेकर देश के कई हि’स्सों में हिं’सा के भी मामले सामने आये हैं और कईयों की जा’न भी चली गयी है. दर असल जिन राज्यों में भार तीय जनता पार्टी की सर कार है,वहां पर तो इसे लागू,करने में कोई दिक्कत शायद न आये लेकिन जहाँ पर उसकी सर कार नहीं है वहां पर इसे लागू करना इतना भी आसान नहीं है. ऐसे में जब कई राज्य इस कानू’न को अपने यहाँ लागू करने से इन कार कर रहे है जिसे देखते हुए सर कार इसकी आवे दन की प्रक्रिया को ऑन लाइन करने पर विचार कर रही है. आपको,

बता दें कि अभी तक नागरि कता हासिल, करने के लिए आवे दन जिला धिकारी के पास किया जाता था लेकिन अब अगर इसे ऑन लाइन कर दिया जाता है तो ऐसे में इस पूरी प्रक्रिया में जिला धिकारी की भूमिका ख़त्म हो जाएगी. इसके अलावा एक तरफ जहाँ कई राज्यों के सीएम ने कहा है कि वह इसे लागू नहीं करेंगे वहीँ दूसरी तरफ,

केद्र सर कार का कहना है कि राज्य सर कार ऐसा नहीं का सकती हैं. उन्हें यह कानू’न लागू करना ही पड़ेगा. कहा जा रहा है कि राज्य सर कार भू संपदा से लेकर कर संग्रह तक पर क़ानू’न बना सकती है और कृषि वगैरा पर दोनों सर कार क़ानू’न बना सकती है लेकिन नाग रिकता का’नून के मामले में राज्य सर कार के पास यह ताकत नहीं है.