किसानों के समर्थन में पंजाब के दिग्गज भाजपा नेता से छोड़ी पार्टी, विरोधी दल में हुए शामिल

January 16, 2021 by No Comments

दिल्ली में चल रहा किसान आंदोलन भारतीय जनता पार्टी के लिए परेशानी का कारण बनता जा रहा है। जहां हरियाणा में खट्टर सरकार पर ख’तरे के बादल मंडरा रहे हैं। वहीं अब पंजाब में भी एक के बाद एक भाजपा नेता पार्टी का साथ छोड़ दे जा रहे हैं। अब खबर सामने आ रहे हैं कि किसानों के साथ एकजुटता दिखाते हुए पंजाब के फरीदकोट के भाजपा अध्यक्ष विजय छाबड़ा ने भी पार्टी छोड़ने का फैसला ले लिया है। वह अब भाजपा की सहयोगी से विरोधी पार्टी बन चुकी शिरोमणि अकाली दल में शामिल हो चुके हैं।

 

दरअसल कुछ ही समय पहले शिरोमणि अकाली दल एनडीए से अलग हुआ है। ऐसे में अपने इस कदम से कलियों ने भगवा पार्टी को एक जोरदार झ’टका दे डाला है। आपको बता दें कि विजय छाबड़ा रिपोर्ट नगर निगम में पार्षद भी हैं। जिला अध्यक्ष के पार्टी छोड़ने से ही है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि भाजपा पर पंजाब में कितना दबाव है।

आपको बता दे कि अकाली दल नेता सुखबीर बादल की मौजूदगी में विजय छाबड़ा ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण करते हुए कहा है कि पार्टी नेतृत्व ने उनकी एक बात भी नहीं सुनी इसके लिए उन्होंने भाजपा छोड़ने का फैसला लिया है। पंजाब में किसानों ने कृषि का’नून के विरो’ध में लोहड़ी के मौके पर कई स्थानों पर केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों की प्र’तियां ज’लाईं। मालूम हो कि लोहड़ी का त्योहार पंजाब, हरियाणा और उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में मनाया जाता है। विभिन्न किसान यूनियन से जुड़े किसानों ने राज्य के कई स्थानों पर वि’रो’ध प्रदर्शन किया और नए कृषि कानूनों की प्र’ति’यां ज’लाईं।

किसानों ने भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले केंद्र के खिलाफ भी जमकर ना’रेबा’जी की और सरकार से उनकी मांगों को नहीं मांगने पर वि’रो’ध जताया। उन्होंने मांग की है कि नए कृषि कानूनों को निरस्त किया जाए किसान मजदूर संघर्ष समिति के बैनर तले महिलाओं समेत किसानों ने अमृतसर में भी विरो’ध प्रदर्शन किया है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *