पालघर हिं’सा में ठाकरे सरकार का बड़ा खु’ला’सा, एक भी मु’स्लि’म…

April 22, 2020 by No Comments

महाराष्ट्र के पालघर में गुरूवार को देर रात मुंबई से गुजरात जाने वाले दो साधू और एक ड्राइवर करीब 200 लोगों की भी’ड़ ने इतनी बु’री तरह से पि’टा’ई की कि उनकी मौ’त हो गई। बताया जा रहा है कि लोगों की भी’ड़ ने इन्हें बच्चा चोर समझकर उनकी बु’री तरह पि’टा’ई कर दी।

महाराष्ट्र में विपक्षी दलों द्वारा इस घटना को सां’प्र’दायि’क रंग देने की कोशिश की जा रही है। इस मामले में बीजेपी ने सीआईडी जांच की मांग की है वहीं महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा पालघर हिं’सा में सां’प्रदा’यिक’ता के एं’ग’ल को नकारा जा चुका है। इसी बीच महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा है कि पालघर हिं’सा को धा’र्मि’क रंग दिया जा रहा है जोकि सरासर गल’त है।

इस दौरान उन्होंने दावा किया है कि मामले में अब तक 100 से ज्यादा लोगों को गि’रफ्ता’र किया जा चुका है लेकिन इसमें एक भी मु’स्लि’म नहीं है। उन्होंने आरोपियों के नाम की एक लिस्ट भी जारी की है। आपको बता दें कि खासकर यह लिस्ट वह उनके लिए जारी कर रहे हैं, जो इस घटना को सां’प्रदा’यिक रं’ग देने में जुटे हैं।’

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पालघर मामले में बयान देकर कहा,सभी को जानकारी है कि पालघर में जो घटना हुई वहां बिल्कुल ग’ल’त हुई। लेकिन वहां अ’फ’वाह फै’ला’ई गई थी कि कुछ लोग ब’च्चा चो’री करते हैं. हालांकि जांच अब सीआईडी को दी गई है। इस मामले मे जांच कर 8 घंटे में 101 लोगों को गि’र’फ्ता’र किया गया है।

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने फेसबुक के माध्यम से अपने संबोधन में कहा कि यह दु’र्भाग्य’पूर्ण है कि पालघर मामले पर सां’प्रदा’यिक’ता की राजनीति हो रही है। उन्होंने कहा कि यह राज’नीति करने का नहीं बल्कि मिलकर कोरोना वा’य’रस से लड़ने का वक्त है। गौरतलब है कि बीजेपी पालघर मामले में गृहमंत्री और एनसीपी नेता अनिल देशमुख पर निशाना साध रही है जो शरद पवार के भी काफी खास माने जाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *