मु’स’ल’मानों ने ली राह’त की सांस, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार के खि’ला’फ सुनाया ये फैसला..

May 8, 2020 by No Comments

देशभर में पहले को’रो’ना वा’यर’स से म’र’ने वाले लोगों के श’वों को द’फना’ने के खि’ला’फ दायर की गई एक याचिका को सुप्रीम कोर्ट द्वारा खा’रि’ज कर दिया गया है। इस मामले पर ज’मी’यत उले’मा ए हिं’द के अध्यक्ष मौ’ला’ना अरशद मदनी ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से मु’सल’मानों को रा’हत की सां’स मिली है।

इस मामले में ज’मीय’त उ’ले’मा ए हिं’द के अध्यक्ष मौ’ला’ना अरशद मदनी का कहना है कि देश भर में फै’ले ख’तरना’क को’रो’ना वा’यर’स सं’क्रम’ण से म’र’ने वालों के श’वों को पहले बीएमसी ने दिलाने के लिए कहा था। लेकिन वि’रो’ध किए जाने के बाद उसने अपने आ’दे’शों में बदलाव कर लिया था। जो भी आ’समा’नी ध’र्म हैं, उनके यहां मसला यह है कि अपने मृ’तक को दफन किया जाए क्योंकि अ’ल्ला’ह ने जमीन को ऐसी ता’कत दी है कि हर चीज को नष्ट कर देती है।

इस मामले में अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि हमारे यहां क’ब्र इस प्रकार से बनाने का आदेश दिया गया है कि मृ’त’क के अंदर द’फ’न करने के बाद जो परि’वर्त’न आते हैं वह बाहर न आ सकें। मौ’ला’ना अरशद मदनी ने कहा कि को’रो’ना से म’र’ने वालों की तद’फी’न ड’ब्ल्यू’एचओ व अन्य स्वास्थ्य सं’गठ’नों की गा’इड’लाइन के मुताबिक ही की जा रही है। इसलिए इस पर वि’वा’द खड़ा करना दु’रु’स्त नहीं है।

आपको बता दें कि मुंबई के उपनगर बांद्रा निवासी प्रदीप गांधी ने पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट में या’चि’का दा’खि’ल कर को’रोना से म’र’ने वाले लोगों के श’वों को द’फ’नाने के खि’ला’फ सुप्रीम कोर्ट में या’चि’का दायर की थी। जिसमें उसका कहना था कि कब्रिस्तानों में श’वों को द’फ’नाने से क्षेत्र में को’रो’ना वा’यर’स के फै’ल’ने का ख’त’रा है। याचिका को लेकर जमीयत उ’ल’मा-ए-हिं’द महाराष्ट्र व बां’द्रा सु’न्नी क’ब्रि’स्ता’न ने को’र्ट में इसका वि’रो’ध किया जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने या’चि’का को खा’रि’ज कर दिया।

भारत में को’रो’ना वा’यर’स के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार शुक्रवार( 8 मई) सुबह 8 बजे तक भारत में को’रो’ना वा’यर’स के मामले बढ़कर 56,342 पहुंच गए। इनमें से 37,916 म’री’जों का इ’ला’ज जारी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *