दल बदलु नेताओं को नहीं लड़ने दिया जायेगा चुनाव! सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से…

January 8, 2021 by No Comments

देश में इस साल कई राज्यों में लोकल चुनाव के साथ-साथ पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं। जिससे पहले सभी राजनीतिक पार्टियों के अंदर दल बदलने का सिलसिला जोरों शोरों से चल रहा है। इसी बीच सुप्रीम कोर्ट से दल बदलने वाले नेताओं को लेकर एक बड़ा फैसला सामने आया है।

बताया जा रहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने दल बदल कानून के संबंध में दायर की गई याचिका पर सुनवाई की है। सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को लेकर चुनाव आयोग और केंद्र सरकार को नोटिस भी जारी किया है। इसमें कांग्रेस नेता की तरफ से दायर की गई याचिका में दसवीं सूची के तहत अयोग्य ठहराए गए विधायकों को सदन के कार्यकाल के दौरान उपचुनाव लड़ने से रोकने की मांग की गई थी। अब इस याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की अध्यक्षता वाली बेंच ने सरकार और चुनाव आयोग को नोटिस भेज दिया है। कोर्ट ने दोनों से 4 हफ्तों के अंदर जवाब मांगा है।

इस याचिका में कांग्रेस नेता जया ठाकुर ने हाल ही में हुई सियासी घटनाओं का जिक्र किया है। जिसमें विधानसभा के सदस्य इस्तीफा दे देते हैं और सरकार गिर जाती है. जिसके बाद वे दोबारा विरोधी पार्टी की बनाई सरकार के साथ मंत्रियों के रूप में उभर कर आते हैं।
इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई इस याचिका में कहा गया है कि एक बार सदन का सदस्य दसवीं अनुसूची के तहत अयोग्य हो जाता है। तो उसे चुने के कार्यकाल के दौरान फिर से चुनाव लड़ने नहीं दिया जा सकता।

इस याचिकाकर्ता ने कर्नाटक मध्यप्रदेश और अन्य राज्यों इसे ऐसी घटनाओं का हवाला देते हुए एक विधायक के स्वेच्छा से इस्तीफा देने के बाद दल बदलने पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि जब उसे अयोग्य घोषित किया जाएगा। तो यह प्रक्रिया रुक सकती है। अनुसूची में साफ है कि सांसद या विधायक बनने की योग्यता निश्चित सदन के पूरे 5 सालों के कार्यकाल तक जारी रहती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *