कंगना विवाद पर शिवसेना की चे’तावनी, ‘ठाकरे’ के हाथ में महाराष्ट्र की कमान है इसलिए..

September 13, 2020 by No Comments

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना के बीच चल रहा वि’वाद बढ़ता चला जा रहा है। भाजपा के इशारे पर कंगना ने महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ कई आ’पत्तिज’नक टि’प्पणि’यां की हैं। शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए एक बार फिर कंगना रनौत पर जमकर निशाना साधा है।

सामना में कहा गया है कि कंगना ने मुंबई पुलिस की तुलना बाबर से की, शहर को पीओके बताया, लेकिन फिर भी बॉलीवुड का एक तबका इस पर चुप्पी साधे बैठा रहा। उस तबके ने ये एक बार भी स्पष्ट नहीं किया कि कंगना के विचार पूरे बॉलीवुड के विचार नहीं है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार पर भी तं’जीय अंदाज में टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि अक्षय कुमार को मुंबई ने काफी कुछ दिया है। सपनों के इस शहर में अक्षय कुमार ने अपार सफलता हासिल की है लेकिन फिर भी उन्होंने कंगना की आ’पत्ति’जनक बयान के खि’ला’फ एक शब्द तक नहीं बोला।

मुंबई का अ’पमा’न होता रहा लेकिन उन्होंने इसका वि’रो’ध नहीं किया सामना में लिखा गया है कि संपूर्ण नहीं कम से कम आधे हिंदी फिल्म जगत को तो मुंबई के अ’पमा’न के वि’रोध में आगे आना चाहिए था। कंगना के विचार पूरे फिल्म जगत का मत नहीं है। ऐसा कहना चाहिए था कम से कम अक्षय कुमार जैसे बड़े कलाकारों को तो इस पर आ’प’त्ति जतानी चाहिए थी।

लेख में लिखा है- दुनियाभर के र’ईसों के घर मुंबई में हैं। मुंबई का जब अ’पमा’न होता है ये सब गर्दन झुकाकर बैठ जाते हैं। मुंबई का महत्व सिर्फ दोहन व पैसा कमाने के लिए ही है। फिर मुंबई पर कोई प्रतिदिन ब’ला’त्का’र करे तो भी चलेगा। इन सभी को एक बात ध्यान रखनी चाहिए कि ‘ठाकरे’ के हाथ में महाराष्ट्र की कमान है। इसलिए सड़क पर उतरकर भू’मिपु’त्रों के स्वाभिमान के लिए रा’ड़ा वगैरह करने की आवश्यकता आज नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *