शरद पवार अपने इस दाँ’व से भाजपा को देना चाहते हैं सब’क़, अजीत पवार से मिलकर…

November 25, 2019 by No Comments

23 नवंबर की सुबह अप्र’त्याशि’त तरह से भाजपा ने अजीत पवार के साथ मिलकर सर’कार बना ली। तब ऐसा लगा मानो भाजपा ने रातों रा’त ही बा’ज़ी पल’ट ली लेकिन असली खेल तो अभी खेला जाना था। 23 नवंबर की सुबह जो हुआ सो हुआ लेकिन उसके बाद से अगर कोई खेल खेल रहा है तो वो एनसीपी है। एनसीपी ने शानदार तरह से अपनी पार्टी को एकजुट करके दिखाया है।

एक समय ऐसा लगा मानो पार्टी टू’ट गई लेकिन शरद पवार के नेतृ’त्व ने पार्टी को फिर से एकजुट कर लिया। अजीत पवार ने शुरुआत में कुछ ऐसे शो किया मानो वो ही अब एनसीपी चलाएँगे लेकिन ये बात उन्हें शायद नहीं पता कि शरद पवार अभी भी खेल के सबसे बड़े खिलाड़ी हैं।

Sharad Pavar- Ajit Pavar

अब सबकी निगाहें एनसीपी पर हैं। शरद पवार ने अपने गे’म से भाजपा को तो मु’श्कि’ल में डा’ला ही है, अजीत पवार की राजनी’ति को लगभग चौप’ट कर दिया है। अब शरद पवार चाहते हैं कि अजीत पवार मा’फ़ी माँ’गकर उनके साथ आ जाएँ। शरद पवार चाहते हैं कि वो अजीत पवार को ये सं’देश दे दें कि उन्होंने बड़ी ग़’लती की थी। अजीत पवार को समझाने की को’शिशें एनसीपी अभी भी कर रही है।

अगर अजीत पवार ने डिप्टी CM पद से इस्ती’फ़ा दे दिया तो ये भाजपा के लिए बहुत बड़ा झ’टका होगा। शरद पवार इस बात को सम’झते हैं और इसलिए वो अपनी चा’ल बहुत सम’झदारी से चल रहे हैं। भाजपा अब अजीत पवार के भरो’से नज़र आ रही है। आज ये भी ख़’बर आयी है कि अजीत पवार को भ्र’ष्टाचा’र के कुछ माम’लों में क्ली’न चि’ट मिल गई है। अजीत पवार आज रात को ही अगर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के ख़े’मे में आ गए तो भाजपा की काफ़ी किर’किरी होगी।