शहाबुद्दीन की मौ’त के बाद इन मु’स्लिम नेताओं ने छो’ड़ दिया RJD का साथ, हिना शहाब ने नीतीश से…

May 5, 2021 by No Comments

बिहार के सिवान से बाहुबली सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के कोरोना संक्रमण से हुए नि’धन के बाद राज्य की सि’यासत में भी काफी हं’गामा म’चा हुआ है। दरअसल एक तरफ तो मोहम्मद शहाबुद्दीन के उनके जन्म स्थली में अं’तिम सं’स्कार का मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है।

वहीं दूसरी तरफ बिहार में प्रदेश स्तर के दो नेताओं ने 24 घंटे के अंदर ही राष्ट्रीय जनता दल का साथ छोड़ दिया है। बताया जाता है कि मोहम्मद शहाबुद्दीन के निधन को सियासत के तवे पर सेंक कर उससे वोटों को खुद के साथ गोलबं’द करने की कोशिश कई राजनीतिक दल कर रहे हैं।

इसी सियासी खेल में अब राजद नेता तेजस्वी यादव और उनकी पार्टी फ’सती हुई नजर आ रही है। बताया जा रहा है कि राजद सुप्रीमो लालू यादव और उनके बेटे तेजस्वी यादव के साथ-साथ पूरे परिवार पर शहाबुद्दीन के परिवार का साथ नहीं देने का आरो’प लगाया जा रहा है। इस संदर्भ में मोहम्मद शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा शहाब ने भी भाजपा आरएसएस के साथ तेजस्वी यादव को भी चे’तावनी दे डाली है।

इधर, एक चर्चा जोर पकड़ रही है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब से नजदीकी बढ़ा रही है। हालांकि सिवान राजद ने पूर्व सांसद के परिवार के पार्टी के साथ होने का दावा किया है। माना जा रहा है कि मोहम्मद शहाबुद्दीन के नि’धन के बाद उनके परिवार और राजद के बीच दूरियों काफी बढ़ रही है।

आलम यहां तक पहुंच गया है कि राजद के नेता रह चुके मोहम्मद शहाबुद्दीन के परिवार ने लालू यादव के परिवार को साफ तौर पर चे’तावनी देनी शुरू कर दी है। इसी बीच राजद तकनीकी प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव मोहम्मद शोहराब कुरैशी ने भी राजद को छोड़ने का ऐलान कर दिया है।

उनका कहना है कि वह अपने मार्गदर्शक मरहूम सैय्यद शहाबुद्दीन के आ’त्मिक मृ’त्यु से बहुत ही आहत हैं। इसे वह बयान नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने ताउम्र राजद की सेवा की। वह सालों-साल पार्टी हित में कार्य करते रहें उन्होंने कहा कि, वैसे कार्यकर्ता जो अपने संसदीय जीवन में विधानसभा के सदस्य तथा लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं उनके लिए पार्टी में कोई सम्मान नहीं है ऐसे छोटे कार्यकर्ताओं का क्या होगा?

मो. शोहराब ने कहा कि राजद पार्टी की तरफ से कोई व्यक्ति जो पार्टी के बड़े पद पर हो शोकाकुल परिवार के साथ खड़ा नहीं है। ऐसे में हम छोटे कार्यकर्ता का राजद परिवार में किस तरह का वजूद रहेगा यह आने वाला समय बताएगा। उन्होंने इस घटना से आहत हो कर तत्काल प्रभाव से राजद सक्रिय कार्यकर्ता एवं पार्टी के बिहार प्रदेश तकनीकी प्रकोष्ठ के सचिव पद से इस्तीफा दे दिया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *