सऊदी सरकार ने मुसलमानों के लिए खोल दिया अपना खज़ाना, फिलिस्तीन में..

August 19, 2020 by No Comments

हाल ही में यूनाइटेड अरब एमिरेट्स और इजरायल के बीच हुए समझौते को लेकर कई मु’स्लि’म देशों ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है। जहां कुछ इ’स्ला’मिक देश इस समझौते का स्वागत कर रहे हैं वहीं कुछ देशों ने इसका विरोध किया है।

गौरतलब है कि इन दिनों यूएई और इजरायल के बीच हुए समझौते की वजह से मिडिल ईस्ट के हालात काफी संजीदा है और पूरी दुनिया जानती है कि यह हालत किस देश की वजह से बने हुए हैं। गौरतलब है कि यूएई के इजरायल के साथ दोस्ती के समझौते के बाद दुनिया भर के मुस्लिम अरब देशों ने नाराजगी जाहिर की है। हालांकि इस मुद्दे पर सऊदी अरब की छुट्टी अभी तक कायम है। लेकिन इससे पहले भी सऊदी अरब और इजरायल के संबंधों की बात सामने आई है।

सऊदी अरब के किंग सलमान ने हमेशा फिलिस्तीन के समर्थन की बात कही है। आपको बता दें कि बीते दो दशकों से फिलिस्तीन को सऊदी अरब ने 6 .5 बिलियन डॉलर दान किए हे। जो अपने आप में ही बहुत बड़ी रकम है। सऊदी अरब पुरी दुनिया में पहला ऐसा मुल्क है। जिसने फिलिस्तीन को माली इमदाद करने में सबसे आगे रहा। सऊदी अरब ने 2000 से 2020 तक 6 ,473 ,586 ,361 डॉलर दान किये पलिस्तीन के स्टेट को ,जबकि 250 मिलियन डॉलर यूनाइटेड नेशंस रिलीफ एंड वर्क्स एजेंसी फॉर फ़लिस्तीन रेफुगीस (UNRWA ) को दिए और यह किंगडम हुमानिटरियन ग्रुप्स मुताबिक है।

मई की शुरू में सऊदी अरब ने कहा था की वह 2 .66 मिलियन डॉलर से फिलिस्तीन में वेस्ट बैंक एंड ग़ज़ा स्ट्रिप को COVID -19 के लिए मदद करेगा , यह शुरुआत किंग सलमान हुमानिटरियन अिध एंड रिलीफ सेंटर ( KSrelief ) के मुताबिक है।

Israeli Prime Minister Benjamin Netanyahu speaks during the weekly Cabinet meeting at his Jerusalem office, February 13, 2011. UPI/Gali Tibbon/Pool

सऊदी का शुरूआती मकसद है वो सहायता प्रदान करना है और वेस्ट बैंक एंड ग़ज़ा स्ट्रिप फिलिस्तीन में 10 मिलियन सऊदी रियाल से भी ज्यादा की मदद करना है , इसमें 12 क़िस्म की मेडिकल सप्लाइज भी शामिल है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *