इजराइल के तट के पास कई साल पुराने एक जहाज के अवशेष मिले हैं। बताया जाता है कि यह जहाज लगभग 1300 साल पुराना हो सकता है। जहाज के अवशेष मैं पूरी तरह से संरक्षित के प्राचीन घड़े भी पाए गए हैं। जिन में मौजूद सामान भी 1300 साल पुराना बताया जा रहा है। खोजकर्ताओं ने जहाज को अलग-अलग मेडिटेरियन इलाकों के सामानों से भरा हुआ बताया है.

माना जा रहा है कि यह जहाज इस बात का सबूत है कि 7वीं सदी में इस्लामिक साम्राज्य की स्थापना के बाद कई पश्चिमी देशों के लोग व्यापार के लिए इस जगह आया करते थे। हालांकि जहाज के इस तरह डूब जाने के कारणों का अब तक नहीं पता चल पाया है.

यह जहाज मौजूदा इजराइली कोस्टल कम्युनिटी मार्गन माइकल से मिला है। यह उस समय का है। जब पूर्वी मेडिटेरियन इलाकों से क्रिश्चियन बीजान्टिन साम्राज्य सिमटता जा रहा था और इन इलाकों में इस्लामिक शासकों की पकड़ मजबूत हो रही थी। इस मामले में समुद्री पुरातत्व डेबोरा सिविकल का कहना है कि ये जहाज 7वीं या 8वीं शताब्दी का हो सकता है। इस बात के सबूत हैं कि धार्मिक बंटवारे के बावजूद तब इस मेडिटेरियन इलाके में व्यापार जारी था.

इसके अलावा डेबोरा ने भी कहा है कि इतिहास की किताबों में आमतौर पर बताया जाता है कि इस्लामिक शासन के विस्तार के बाद इन इलाकों में व्यापार बंद हो गया था। मेडिटेरियन में तब इंटरनेशनल लेवल पर व्यापार नहीं होते थे। लेकिन ऐसा प्रतीत नहीं होता है.

हमारे पास एक बड़े जहाज का मलबा है। हमें लगता है कि यह जहाज असल में 25 मीटर लंबा होगा। इस पर अपनी कलाकृतियों को देखकर यह अनुमान लगाया जा रहा है कि जहाज मित्र के साइप्रस से यहां आया होगा या फिर तुर्की से भी आ सकता है। खोजकर्ताओं को इस जहाज के अवशेष से लगभग 200 घड़े मिले हैं। जिसमें मछली की चटनी ,जैतून, खजूर और अंजीर पाए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *