राहुल गाँधी ने निभाई दोस्ती, पार्टी में सचिन पायलट के लिए बनाया..

July 16, 2020 by No Comments

राजस्थान में मचे सियासी बवाल के बीच 2 दिन पहले सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री पद और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। दरअसल कांग्रेस नेता सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच चल रही त’नात’नी के बीच सचिन पायलट दिल्ली में डे’रा जमाए हुए हैं।

आपको बता दें कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस मामले में अब अपने हाथों में कमाल ले ली है और अशोक गहलोत द्वारा सचिन पायलट पर दिए गए बयान पर ना’राज’गी जाहिर की है। इस दौरान जयपुर में दो बार गहलोत सरकार की और से विधायक दल की बैठक भी बुलाई गई, जिसमे सचिन पायलट के साथ साथ सभी विधायकों को भी बुलाया गया। लेकिन सचिन पायलट इन दोनों बैठकों में नहीं पहुंचे, जिसके बाद कांग्रेस ने बड़ा कदम उठाते हुए उन्हें दोनों अहम पदों से हटा दिया।

इन सबके बीच कांग्रेस ने उनके लिए अपने दरवाजे अब भी खुले रखे हैं और वापसी का एक और मौका दे रही है। कांग्रेस पार्टी की इस नरमी के पीछे राहुल गांधी का हाथ माना जा रहा है। जिन्होंने पार्टी नेताओं को सचिन पायलट को एक तीसरा मौका देने का निर्देश दिया है। गौरतलब है कि सचिन पायलट और राहुल गांधी करीबी दोस्त हैं और इसी वजह से उन्होंने यह फैसला लिया है।

सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी का यह निर्देश उस समय आया जब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर सीधे तौर पर बीजेपी के साथ सरकार गि’राने का आरो’प लगाया। इसके फौरन बाद राहुल गांधी ने जयपुर में तैनात राष्ट्रीय नेताओं को निर्देश दिए कि सचिन को वापसी का मौका दिया जाना चाहिए। बताया जाता है कि राहुल गांधी ने सचिन पायलट को 18 महीने मुख्यमंत्री पद के लिए पेशकश भी की थी।

आपको बता दें कि कांग्रेस नेताओं का मानना है कि 17 जुलाई यानी विधानसभा अध्यक्ष द्वारा जारी कारण बताओ नो’टिस का जवाब देने की आखिरी तारीख तक सचिन पायलट और उनके विधायकों के पास घर वापसी का पूरा मौका हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *