अभी अभी: ओवैसी के खिलाफ जारी हुआ गैर जमानती वारंट, देखते ही…

January 27, 2021 by No Comments

ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और लोकसभा असदुद्दीन ओवैसी के खि’लाफ बिहार के हाजीपुर सिविल कोर्ट ने क्या ज’मानती वारंट जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि साल 1993 के मुंबई ब’म ब्ला’स्ट मामले या’कूब मेमन की फां’सी के बाद असदुद्दीन ओवैसी द्वारा भ’ड़का’ऊ बयान दिया गया था। जिसके बाद भगवानपुर प्रखंड के धर्मपुर गांव निवासी राजीव शर्मा ने असदुद्दीन ओवैसी, वारिस पठान, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और शशि थरूर के खि’लाफ लोगों की भावनाए आहत किए जाने के मामले में हाजीपुर सीजेएम कोर्ट में प’रिवाद दायर किया था।

खबर के मुताबिक कांग्रेस नेता शब्बीर अली पर ह’मले के मामले में सुनवाई के लिए असदुद्दीन ओवैसी कोर्ट में हाजिर नहीं हुए। जिसके चलते स्पेशल को टीम के खिलाफ गैर ज’मानती वारंट जारी करें। दरअसल साल 2016 के चुनाव के दौरान हैदराबाद के कांग्रेस नेता शब्बीर अली के कार से जाने के दौरान कुछ लोगों ने उनका रास्ता रोक कर ह’मला किया था।

 

पुलिस ने इस मामले में असदुद्दीन ओवैसी को मुख्य आरो’पी के रूप में मामला दर्ज किया था और पिछले पांच सालों से अदालत में इस मामले की सुनवाई चल रही है। 2016 में शब्बीर अली ने आ’रोप लगाया था कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने अपने कार्यकर्ताओं को उनके काफिले पर ह’मला करने का निर्देश दिया था।

इस मामले में शब्बीर अली ने यह भी कहा था कि ओवैसी इस दौरान अपने पार्टी कार्यकर्ताओं से कह रहे थे कि मेरे इलाके में घु’सने की इनकी हि’म्मत कैसे हुई। कांग्रेस नेता ने दावा किया है कि अगर असदुद्दीन ओवैसी खुद को एक सच्चा मु’सल’मान मानते हैं। तो वह इस बात से कभी भी मुकर नहीं सकते। शब्बीर अली के इन आ’रो’पों को असदुद्दीन ओवैसी ने सिरे से खारिज किया है। उनका कहना है कि वह राजनीतिक हस्तक्षेप के लिए तैयार है। मैं या मेरे पार्टी के लोग इस हमले में शामिल नहीं थे। कानून का उ’ल्लंघ’न करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *