इंडिया टुडे के पत्रकार ने मु’सल’मानों के खि’ला’फ चलाई फ’र्जी खबर, अब पु’लि’स ने लिया ए’क्शन..

April 16, 2020 by No Comments

देश में फैली गं’भीर बी’मा’री के बीच भी गोदी मीडिया न’फ’रत फै’लाने से बा’ज नहीं आ रहा है। जो चैनलों और सोशल मीडिया पर 23 फरवरी फ’र्जी खबरें चलाई जा रही हैं। जो कि सां’प्रदायि’क’ता फैलाने का काम कर रही है इंडिया टुडे की एक ऐसी ही रिपोर्ट जो कि दिल्ली के म’दर’सों पर एक स्टिं’ग ऑपरेशन के बारे में है।

रिपोर्ट में बताया जाता है कि भारत में चल रहे दे’शव्यापी’ लॉक डाउन के दौरान इन 3 मदरसों में छात्र रह रहे थे और 3 शिक्षक भी थे। जिसने पुलिस को रिश्वत देकर छात्रों को वहां पर रहने दिया। तीनों शिक्षकों ने जा’नबूझ’कर अपने मदरसों में छात्रों को तं’ग जगहों पर रखा, सभी लॉकडाउन दिशा निर्देशों का उ’ल्लं’घन किया, और छात्रों को पु’लि’स से छि’पा’या। चैनल ने दावा किया कि शिक्षकों के त’ब्लीगी’ ज’मात के साथ संबंध थे। जिसका पिछले महीने दिल्ली के नि’ज़ामु’द्दीन में भारतीय मीडिया द्वारा को’रोना’वाय’रस के मामलों में तेजी लाने के लिए दो’षी ठहराया है।

इस स्टिं’ग ऑपरेशन में यह नहीं बताया गया कि इन म’दर’सों में रहने वाले छात्र कहां से भी और यह यहां पर क्यों रुके हुए थे। न्यूज लॉन्ड्री की रिपोर्ट के मुताबिक जब इंडिया टुडे द्वारा किए गए स्टिं’ग में सामने आए लोगों के साथ बातचीत की गई तो उन्होंने में से दो ने बताया कि वह छात्र बिहार से थे और लॉक डाउन लगने के बाद अपने घर वापस नहीं जा पाए।

उन्होंने बताया कि इन छात्रों की उनके घर जाने के लिए वापस कितने बुक की गई थी लेकिन लॉक डाउन बढ़ जाने की वजह से वह वापस नहीं जा पाए। दरअसल 21 मार्च को एचआरडी मंत्रालय ने देश के सभी शैक्षिक संस्थानों के हॉस्टल में रहने वाले छात्रों पर वहीँ पर रहने की हि’दा’यत दी थी और म’दर’से भी इसी के अंतर्गत आते हैं इसलिए यह बात यहां पर रुके हुए थे।

2 अप्रैल को, पुलिस ने दो म’दर’सों में रहने वाले छात्रों के विवरण के साथ उप प्रभागीय मजिस्ट्रेट इसकी रिपोर्ट भेजी थी। स्टिं’ग में जो दिखाया गया है, उसके विपरीत, पुलि”स ने कहा, जाबिर और शिक का त’ब्ली’गी जमात से कोई संबंध नहीं था और न ही वे इसके निज़ा’मु’द्दीन मुख्यालय गए थे।

आपको बता दें कि इंडिया टुडे द्वारा जिन तीन मदरसों पर क’थित स्टिं’ग ऑप’रेशन का दावा किया जा रहा था उनमें से दो दिल्ली और एक नोएडा का था। मद’रसा दारुल-उल-उलूम उस्मानिया और मदरसा इस्लाहुल मुमिनेर मदनपुर खादर दिल्ली और मदरसा जामिया मोहम्मदिया हल्दोनी ग्रेटर नोएडा। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने भी यह कहा है कि दिल्ली के 2 मदरसों में छात्रों को छु’पाए जाने की खबर झू’ठ है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *