नीतीश सरकार से इस कारण नाराज हुए मांझी, NDA की बैठक में खरी-खरी सुनाते हुए…

February 25, 2021 by No Comments

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कार्यकाल में अ’फस’रशाही को लेकर कई आरो’प लगते रहे हैं। अब एक बार फिर इस मामले में नीतीश सरकार अपने ही सहयोगी दलों के नेताओं के निशाने पर आ चुकी है। बताया जा रहा है कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिं’दुस्ता’नी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आ’रोप लगाया है।

एनडीए विधानमंडल दल की बैठक के दौरान अपनी राय जाहिर करते हुए कहा कि बिहार में अफसर विधायकों से बढ़िया बर्ताव नहीं करते हैं। यह समस्या अब दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। एनडीए विधानमंडल दल की बैठक में बोलते हुए जीतन राम मांझी ने कहा है कि विधायकों को सम्मान मिलना चाहिए और जनप्रतिनिधियों का सम्मान नहीं हुआ और सरकार में वह कामकाज नहीं करा पाए। तो जनता के बीच उनके पैठ कैसे बन पाएगी। उन्होंने कहा है कि अफसर विधायकों के साथ बढ़िया बर्ताव नहीं करते हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस मामले पर गं’भीरता से संज्ञान लेना चाहिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बैठक के दौरान यह भरोसा दिया है कि बजट सत्र के बाद विधायकों को अधिकारियों के साथ बुलाकर खुद ही तय करेंगे कि भविष्य में ज’नप्रतिनि’धियों और अ’फसरशा’ही को हावी ना होने दिया जाए।

केंद्रीय विधान मंडल की बैठक में यह भी तय हुआ है कि बजट सत्र के दौरान सत्ता पक्ष के सभी विधायक सदन में मौजूद रहेंगे। विधायकों की उपस्थिति सदन में बनी रहे इसके लिए उन्हें पटना में मौजूद रहने को कहा गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्ष के आरोपों का शालीनता पूर्वक इस जवाब देना हमारा काम है। सदन की कार्यवाही जब तक चले तब तक कोई सदस्य सदन से बाहर ना जाए यह सुनिश्चित करना होगा।

इसके अलावा विधानसभा में बजट सत्र के दौरान तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार के शासनकाल में राज्य में अ’परा’ध बढ़ने के गं’भी’र आ’रो’प भी लगाए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *