NCP के मुस्लिम नेता ने शिवसेना को समर्थन देने के लिए रखी शर्त, करना होगा ये काम..

November 10, 2019 by No Comments

मुंबई: शिवसेना से गठबंधन किया जाए या नहीं इसको लेकर एनसीपी और कांग्रेस में बातचीत का दौर जारी है. अलग-अलग मीटिंग के दौर चल रहे हैं. कांग्रेस और एनसीपी दोनों के नेता कैमरे के पीछे कह रहे हैं कि शिवसेना से उनका गठबंधन हो सकता है. राज्यपाल ने भी शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता दे दिया है. शिवसेना को आधिकारिक तौर पर सरका’र बनाने का न्योता मिल गया है.

शिवसेना कैम्प में इसके बाद ख़ुशी की लहर है. ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे कोई बयान देंगे. वरिष्ठ एनसीपी नेता नवाब मलिक ने इसके पहले कहा कि अगर राज्यपाल शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता देते हैं तब हम अगले क़दम के बारे में विचार करेंगे.मलिक ने कहा कि अभी तक हमें शिवसेना की ओर से कोई प्रस्ताव नहीं मिला है..आख़िरी फ़ैसला कांग्रेस-एनसीपी साथ में लेंगे जैसा कि पवार साहब ने कहा है.

उन्होंने आगे कहा कि हमने १२ नवम्बर को विधायकों की मीटिंग बुलाई है..अगर शिवसेना हमारा समर्थन चाहती है तो उसे भाजपा से अपने सभी रिश्ते ख़त्म करने होंगे. उन्होंने कहा कि उन्हें NDA से अपना समर्थन वापिस ले लेना चाहिए..उनके सभी मंत्री केन्द्रीय कैबिनेट से इस्तीफ़ा दें. आपको बता दें कि NCP का कहना है कि वो शिवसेना को समर्थन तब देंगे जब शिवसेना हर तरफ़ से भाजपा से सारे रिश्ते तोड़े यानी कि केंद्र भी।

वहीं कांग्रेस के नेता संजय निरुपम जो अभी बाग़ी तेवर अपनाए हुए हैं, उन्होंने कहा कि कांग्रेस को शिवसेना के साथ नहीं मिलना चाहिए शिवसेना के साथ मिलने से कांग्रेस का नुक़सान होगा क्योंकि शिवसेना अपना काम पूरा होते ही लोगों को छोड़ देती है. उल्लेखनीय है कि शिवसेना नेता संजय राउत बार-बार ये कह चुके हैं कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा. उन्होंने आज कहा कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे जी ने साफ़ कह दिया है आज कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा..अगर उद्धव जी ने ऐसा कहा है तो इसका मतलब है कि हर क़ीमत पर शिवसेना का ही मुख्यमंत्री होगा.