जिसका ड’र था वही हुआ, जिस डेटा से तैयार हो’गा एन आर सी, उसमें से अब मु’स्लि’म त्यो’हा’र गा’यब

January 4, 2020 by No Comments

एक तरफ जहाँ एन आर सी को लेकर पूरे और दुनिया में वि’वा’द हो रहा है तो दूसरी तरफ अब इसमें एक और नया मामला सामने आया है. दर असल जिस डेटा का उपयोग नेश नल रजि स्टर ऑफ सिटि जन्स के लिए किया जाना है उसमे से अब मुसला मानों के त्यो हारों को गायब कर दिया गया है. खबर सामने आई है कि इस साल यानी की 2020 के के गणनाकारों के मैनु अल से मु’स्लि’म त्यो हारों को गायब कर दिया गया है. बड़ी बात यह है कि इसमें मुहर्रम से लेकर मिलाद,अन न’बी के साथ साथ रम जान जैसे अहम् त्यौहार को भी शामिल नहीं किया गया है. वहीँ आपको बता दें कि एन पी आर मैनु अल में अंग्रेजी और गो रियन महीनों के मद्दे नज़र सभी अहम् त्यो हारों को शामिल किया गया है. आपको बता दें कि इस खंड में भारत में रहने वाले सभी मज हब से जुड़े त्यो हारों और नेश नल हॉ लिडे को सूची बद्ध किया जाता है.

लेकिन बड़ी बात यह है कि इसमें मु’स्लि’म त्यौ हार को शामिल नहीं किया गया है. इस सूची में गुड फ्राइडे से लेकर क्रिस मस और गोविंद सिंह जयंती और बुद्ध पू’र्णिमा जैसे त्यो हारों को शामिल किया गया है जो इस देश इ रहने वाले जैन से लेकर इसा’ई और बौ’द्ध ध’र्म के लोगों से जुड़े हैं लेकिन मु’स्लि’म त्यौहार को इसमें शामिल नहीं किया गया है.

इसके अलावा इस सूची में हि’न्दु’ओं के भी सभी त्यो हारों को भी शामिल किया गया है. आपको बता दें कि अभी जो नाग रिकता का’नून सर कार लाइ है उसमे भी ऐसा किया गया है. बाकी मज हब के लोगों को तो इसमें नाग रि कता देने के बात कही गयी है लेकिन इसमें भी मु’स्लि’मों को शा मिल नहीं किया गया है.