मुहर्रम के मौके पर ईराक के इस बदलाव से दुनिया हैरान, किया ये बड़ा एलान…

August 22, 2020 by No Comments

शुक्रवार को मुहर्रम का चांद नजर आ गया है कल यानी कि 21 अगस्त को मोहर्रम की 1 तारीख थी और 30 अगस्त यौमे आशूरा मनाया जाएगा। इस्लामी कैलेंडर के हिसाब से मुहर्रम साल का पहला महीना होता है। जिसे साल-ए-हिजरत भी कहा जाता है।

इसी बीच खबर सामने आ रही है कि मुहर्रम के मौके पर इराक ने एक बड़ा बदलाव किया है जिससे पूरी दुनिया हैरान हो रही है। दरअसल इराक में मुहर्रम के मौके पर बड़े-बड़े टेंट लगाए जाते हैं। इराक की ती’र्थ नगरी क’र्बला में दुनिया के कोने-कोने से लोग यहां पहुंचकर इस के कार्यक्रम में शामिल होते हैं।

आपको बता दें कि मोहर्रम के मौके पर लोगों का हर साल यहां लाखों की संख्या में इकट्ठा होना बहुत ही साधारण सी बात है। लेकिन इस बार को’रोना वा’यरस महा सं’कट को देखते हुए इराक के प्रबंधन ने यहां पर टेंट लगाए हैं। लेकिन कुछ लोगों का को’रोनावा’यरस से बचाने के लिए सा’मा’जिक दूरी का प्रयास किया गया है। इस बदलाव को देखकर दुनिया है’रान है।

कहा जा रहा था कि कोरोना महामा’री में यह सबसे बड़ी धा’र्मि’क सभा होगी जैसा कि आप जानते हैं सऊदी अरब में हज के मौके पर लाखों ह’जयात्री जुड़ते हैं लेकिन इस बार छोटा ह’ज ही आयोजित किया गया था। दरअसल इस साल करो ना महा सं’क’ट के चलते मो’हर्रम को देखते हुए यह कहा जा रहा था कि क’र्बला में लाखों लोगों की भी’ड़ जुटी थी।

जिससे को’रोनावा’यरस का प्रचार प्रसार ज्यादा होगा और इससे इसके फै’ल’ने का ख’तरा और भी ज्यादा बढ़ सकता है लेकिन इस बदलाव को देखकर एक अखबार ने लिखा है कि यह सभी का सबसे आश्चर्यजनक मो’हर्रम है। गौरतलब है कि ईराक में अब तक कोरोना वायरस से अबतक 20,376 मौ’तें हो चुकी है। जो दुनिया के दूसरे स्थान है। फिलहाल ईराक में 354,764 कोराना केस सामने आए है। जिनमें 28,522 एक्टिव केस हैं। वहीँ भारत में भी इस साल पर मुह’र्रम को लेकर सरकार गाइडलाइन जारी कर सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *