मीट की दुकाने खोलने पर रहा है विचार,लेकिन ये शर्ते मानना होगी

April 10, 2020 by No Comments

कोरोना वायरस से जारी जं’ग के कारण देश में इस वक्त लॉकडा’उन लागू है.बाजार,ट्रेन,दफ्तर सब बंद पड़े हैं.इस बीच खाने-पीने की चीज़ों को लेकर काफी सतर्कता बरती जा रही है.उत्तर प्रदेश में अब इसी को ध्यान में रखते हुए मीट-मछली के कारोबार को दोबारा शुरू किया जा सकता है.लॉकडा’उन के बीच राज्य सरकार कुछ सख्त शर्तों के साथ इसे शुरू कर सकती है.

उत्तर प्रदेश में इसके तहत मुर्गे और मछली की अलग-अलग दुकानें खुलवाई जाएंगी.वहां सोशल डिस्टेंसिंग से लेकर साफ-सफाई के लिए बेहद कड़े और सख्त नियम बनाए जाएंगे, जिनका पालन करने वालों को ही इस व्यवसाय को चलाने की इजाजत दी जाएगी.

दरअसल,केंद्र सरकार ने मीट-मछली और अंडे के उत्पादन और उसके कारोबार को अत्यावश्यक वस्तुओं सेवाओं में शामिल कर लिया है.लिहाजा राज्य सरकार ने भी केंद्र के दिशा-निर्देशों को लागू करने का मन बनाया है.गौरतलब है कि देश में लागू लॉकडाउन के बीच मीट-मछली के व्यवसाय को रोकने के पीछे एक बड़ी वजह इस व्यवसाय में व्याप्त गंदगी और संक्रमण की आशंका थी.इसीलिये सरकार ने इसे रोक दिया था.

लेकिन अब लगातार बंदी के कारण इस क्षेत्र में लगे हजारों उत्पादक और कारोबारियों को आर्थिक हालात बिगड़ते जा रहे हैं.साथ ही साथ उनके पास मौजूद मुर्गी-अंडे और चूजे बेहद बुरी स्थिति में है,लिहाजा सरकार ने इन व्यवसायियों को अब राहत देने का मन बनाया है.

ऐसे में उम्मीद है कि आने वाले एक-दो दिन में उत्तर प्रदेश के शहरों में मीट मछली का व्यवसाय सुचारू रूप से शुरू हो जाएगा,लेकिन उससे पहले सभी व्यापारियों को सरकार द्वारा तय किए गए नियमों का पूर्णतया कड़ाई से पालन करना होगा.इस फैसले से प्रदेश के दस लाख परिवार राहत पा सकेंगे.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के कुल केस की संख्या 300 के पार चली गई है,इसी के बाद राज्य में 15 जिलों के कोरोना हॉटस्पॉट को पूरी तरह से सील कर दिया गया है.जहां सिर्फ होम डिलीवरी की सुविधा उपलब्ध है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *