महाराष्ट्र सरकार पर आया कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का ये ब’यान..

November 23, 2019 by No Comments

महाराष्ट्र में सुबह बनी भाजपा सर’कार पर हर ओर से प्रतिक्रिया आ रही है। कांग्रेस के बड़े नेता दिग्विजय सिंह ने इस मामले में अपनी राय देते हुए कहा है कि “ये लोकतंत्र का म’ज़ाक़ बनाया जा रहा है। भाजपा ने यही काम गोवा, मेघालय और अन्य राज्यों में भी किया है। NCP के कोई भी विधायक इस बात का सम’र्थन नहीं करेंगे, अजित पवार अकेले ही भाजपा में शामिल हुए हैं। इसी बीच NCP प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस लीडर मल्लिकार्जुन खड़के और अहमद पटेल, कांग्रेस- NCP- शिवसेना की साझा प्रेस कोनफ़्रेस के लिए YB चव्हाण सेंटर पहुँच चुके हैं और ये कोनफ़्रेस शुरू है।

सुबह इस मामले में अपना पक्ष रखने शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत सामने आये। उन्होंने कहा,”अजित पवार कल रात नौ बजे तक हमारे साथ बैठे थे और फिर अचानक वो निकल गए। उनकी बॉडी लेंगवेज सही नहीं लगी। उसके बाद से उनका फ़ोन बंद आ रहा था। जैसे कोई इंसान पाप करने जाता है वैसे ही वो किसी से नज़रें नहीं मिला रहे थे। अं’धेरे में पा’प, चो’री, ड’कैती और व्य’भिचार होता है, जिस तरह से अं’धेरे में शप’थ दिलायी गयी वो छत्रपति शिवा’जी महाराज के महाराष्ट्र में ऐसा नहीं हो सकता था।”

उन्होंने आगे कहा, “भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी कर सकती है। अजित पवार ने जो धो’का किया है उसके लिए उन्हें महाराष्ट्र की ज’नता कभी मा’फ़ नहीं करेगी, वो ज़िंदगी भर त’ड़पते रहेंगे।” उन्होंने आगे कहा कि “स’त्ता, पैसा और मस्ती के दम पर भाजपा ने ये खेल खेला। देवेंद्र फडनवीस की कोई ग़ल’ती नहीं कहूँगा क्योंकि भाजपा सत्ता के लिए कुछ भी करने को तैयार है लेकिन छत्रपति शिवाजी महाराज की जनता को अजित पवार ने धो’का दिया है। शरद पवार का इससे कोई लेना देना नहीं है वो लगातार हमसे सम्पर्क में बने हुए हैं। आज उद्धव ठाकरे और शरद पवार मुलाक़ात कर सकते हैं और शायद साथ में प्रेस कोनफ़्रेंस भी करें ऐसी बात चल रही है।”

शरद पवार ने इसके पहले अपने बयान में कहा कि “BJP को समर्थन करने का फ़ैसला NCP का नहीं है बल्कि अजित पवार का निजी फ़ैस’ला है। न हम उनका समर्थन करते हैं और न ही उनके साथ हैं।” उन्होंने उद्धव ठाकरे से कहा कि “अजित पवार ने पार्टी तो’ड़ दी।” इस बीच बड़ी ख़बर है कि शरद पवार की बेटी और एनसीपी की नेत्री सुप्रिया सुले ने अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर लिखा है कि “परिवार और पा’र्टी टू’ट गई।”