केजरीवाल सरकार ने किसानों के लिए सुनाया बड़ा फैसला, कहा- दिल्ली में उन्हें..

November 27, 2020 by No Comments

मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खि’लाफ पंजाब और हरियाणा से लाखों की संख्या में किसान दिल्ली में प्रदर्शन करने के लिए निकल गए हैं। लेकिन उन्हें दिल्ली आने से रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने पंजाब और हरियाणा के बॉर्डर पर भारी तादाद में पुलिस और बीएसएफ के जवानों को तै’नात किया गया है।

इसके साथ ही पंजाब हरियाणा बॉर्डर पर किसानों पर पानी की बौछार और आंसू गैस के गो’ले ब’रसाए जा रहे हैं। पंजाब और हरियाणा से दिल्ली जा रहे किसानों ने बैरिकेडिंग तो’ड़कर आगे बढ़ना शुरू कर दिया है। हरियाणा दिल्ली बॉर्डर पर सुरक्षाकर्मियों की तादाद को बढ़ा दिया गया है और चेकिंग भी चल रही है। बताया जा रहा है कि कई जगहों पर आंसू गैस के गो’ले दा’गने के साथ-साथ किसानों पर ला’ठीचा’र्ज भी किया गया है। अब इस मामले में सियासी दलों की राजनीति भी शुरू हो चुकी है।

विपक्षी दलों ने इस मामले में मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने कांग्रेस ने जमकर इस मामले को लेकर केंद्र सरकार पर ह’मला बोला है। तो वहीं किसानों के साथ हो रहे बर्ताव के लिए पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर को दो’षी ठहराया है। किसान अभी भी भारी संख्या पर बार्डर पर जुटे हुए हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने राज्य की केजरीवाल सरकार से 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल में बदलने की मांग की थी। ताकि प्रदर्शन कर रहे किसानों को जेल में डाला जाए। लेकिन केजरीवाल सरकार ने पुलिस की इस मांग को ठु’करा दिया है।

केजरीवाल सरकार का कहना है कि किसी भी स्टेडियम को अस्थाई जेल में परिवर्तित नहीं किया जाएगा। हरियाणा सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अ’त्या’चार को देखते हुए अब उत्तर प्रदेश के किसान संगठनों ने भी एकजुट होकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *