KBC में ऑडियंस पोल में आया चौं’काने वाला रिज़ल्ट, इस वजह से माँ’गनी पड़ी मा’फ़ी..

November 14, 2019 by No Comments

केबीसी का 11 सीज़न चल रहा है। जिसमें यह दूसरी बार हुआ है कि जब कंटेस्टेंट को लाइफ लाइन का कोई फ़ायदा नहीं हुआ। पहली बार जब ख़ुद एक्सपर्ट ने ही जवाब का पता ना होने की बात कही थी। और कंटेस्टेंट को लाइफ लाइन का प्रयोग करने पर भी जवाब नहीं मिला और कंटेस्टेंट को खेल से बाहर होना पड़ा। और इस बार तो कंटेस्टेंट का जो विश्वास ऑडियंस पोल पर रहता है वही टूट गया।

बता दें कि केबीसी के 11 सीज़न के 13 वें एपिसोड में पहली बार ऐसा हुआ है कि ऑडियंस पोल भी ग़लत साबित हुई हो, और ऑडियंस के ग़लत जवाब का ख़ामियाज़ा भुगतना पड़ा हॉट सीट पर 40 हज़ार रुपये जीत चुके कंटेस्टेंट को, और लखनऊ उत्तर प्रदेश के सरबजीत सिंह मक्कड़ जो अच्छा खेल रहे थे, उन्हें ऑडियंस के ग़लत जवाब की वजह से सिर्फ़ 10 हज़ार रुपये की धनराशि लेकर ही केबीसी से बाहर होना पड़ा।

सरबजीत के बाहर होते ही खेल समाप्ति का हूटर बज उठा। केबीसी के दौरान एक्सपर्ट लाइफलाइन के लिए स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट विक्रांत गुप्ता को बुलाया गया था। जिन्होंने खेल समाप्ति के बाद विदा लेते समय केबीसी के प्रस्तुतकर्ता अमिताभ बच्चन से माफी मांगते हुए एक बड़ा बयान दिया, जिसके बाद से केबीसी पर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। एक्सपर्ट लाइफ लाइन के लिये बुलाये गए विक्रांत गुप्ता ने अमिताभ बच्चन से माफी मांगते हुए कहा कि शायद ऑडियंस और पूरे सवाल को पूछने के लफ़्ज़ों में थोड़ी कमी रह गई।

शायद सही तरीके से सवाल पूछा गया होता तो सही जवाब आता। बता दें कि जो सवाल सरबजीत सिंह मक्कड़ से पूछा गया था और जिसका जवाब ग़लत हुआ वह था- इनमें से कौन से मुख्यमंत्री दून स्कूल देहरादून के छात्र नहीं है? और सरबजीत सिंह ने इसके लिए ऑडियंस पोल का इस्तेमाल किया। जिस पर ऑडियंस ने जवाब दिया पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, जो कि एक ग़लत जवाब था। जिसकी वजह से कंटेस्टेंट सरबजीत सिंह मक्कड़ जो कि 80 हज़ार के सवाल पर थे, उन्हें सिर्फ़ 10 हज़ार लेकर केबीसी से बाहर होना पड़ा।