त’ब्ली’गी जमा’त पर वि’वादि’त ट्वीट करने वाले मु’स्लि’म IAS अधिकारी को कर्नाटक सरकार ने किया..

May 2, 2020 by No Comments

कर्नाटक में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने त’बली’गी ज’मा’त के सदस्यों द्वारा अन्य मरीजों के लिए दिए गए प्ला’ज्मा’ दान पर टि’प्प’णी करने वाले आईएएस अधिकारी को ”कारण बताओ नो’टि’स जारी” किया है। बताया जाता है कि आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसीन ने सोशल मीडिया साइट पर ट्विटर पर कहा था कि ‘‘300 से अधिक त’बली’गी नायक अकेले दिल्ली में अपना प्ला’ज़्’मा देश के लिए दान कर रहे हैं। किसके लिए? गो’दी मी’डि’या? वह इन नायकों द्वारा मा’न’वता के लिए किए जा रहे कार्य को नहीं दिखाएगी।’’

साल 1996 के आईएएस बैच के अधिकारी मोहसिन कर्नाटक काडर में हैं और मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। मौजूदा समय में वह पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में बतौर सचिव कार्यरत हैं। कर्नाटक सरकार द्वारा जारी किए गए कारण बताओ नोटिस में सरकार ने कहा है कि इस ट्वीट को मीडिया में मिले प्रतिकूल प्रचार पर सरकार ने गं’भी’रता से संज्ञान लिया है यह को’रो’ना वा’यर’स सं’क्र’मण का गं’भी’र मामला है और सं’वेदन’शील’ता इसमें शामिल है।

वहीँ राज्य के वरिष्ठ नौ’करशा’ह ने पीटीआई (भाषा) से कहा, ‘‘कर्नाटक सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि वह श’क्ति’शाली अधि’कारि’यों पर भी का’र्र’वाई करने से वह नहीं हि’चके’गी अगर उनकी गतिविधियां ऐसे समय में स’मर’स’ता को ख’रा’ब करती है जब कोविड-19 के खि’ला’फ ए’कजु’टता की जरूरत है।’’

आपको बता दें कि, भारतीय प्रशासनिक सेवा (आइएएस) अधिकारी मोहम्मद मोहसिन पिछले साल उस समय चर्चा में आए थे जब अप्रैल में ओडिशा दौरे के दौरान चुनाव प’र्यवे’क्ष’क के नाते उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने की कोशिश की थी और चुनाव आयोग ने उन्हें नि’लंबि’त कर दिया था।

गौरतलब है कि, त’बली’गी ज’मा’त उस समय चर्चा में आया जब सरकार के निर्देशों के विपरीत दक्षिण दिल्ली के नि’जामुद्दी’न के म’रक’ज में धा’र्मि’क ज’माव’ड़ा हुआ और इसमें शामिल कई लोग को’रो’ना वा’यर’स से सं’क्र’मित पाए गए। गौरतलब है कि तब्लीगी जमात के सदस्यों द्वारा कोरोना संक्रमितों के लिए प्लाज्मा दान किया जा रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *