सुशांत मामले में कंगना और अर्नब की बढ़ेगी मु’श्किलें, महाराष्ट्र सरकार ने पेश किया..

September 8, 2020 by No Comments

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त के मामले में हर तरफ से ही ब’यानबा’जी का दौर चल रहा है। लेकिन अब यह मामला विधानसभा तक जा पहुंचा है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र विधानसभा और विधान परिषद में शिवसेना द्वारा न्यूज़ चैनल रिपब्लिक टीवी के मैनेजिंग डायरेक्टर और एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी के साथ बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ वि’शेषा’धि’कार ह’नन प्रस्ताव पेश होने के चलते जमकर हं’गा’मा हुआ है।

विधानसभा में न्यूज़ एंकर अर्नब गोस्वामी के खि’लाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव को आगे बढ़ाते हुए शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने उन पर आरोप लगाया है कि वह अ’पमान’जनक भाषा का इस्तेमाल करते हैं और उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के खि’लाफ आधारहीन टिप्पणी की है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गोस्वामी अक्सर टीवी बहस के दौरान मंत्रियों, लोकसभा और विधानसभा सदस्यों का अपमान करते रहे हैं और अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौ’त के मामले में कई लोगों के खि’ला’फ नि’राधा’र आ’रो’प लगाए हैं। महाराष्ट्र के विधायकों ने कंगना के महाराष्ट्र की पीओके से तुलना वाले बयान पर भी आ’प’त्ति जताई।

इस मामले में एनसीपी नेता छगन भुजबल और अबू आजमी ने भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया। इनका कहना है कि देश में सभी को बोलने की आजादी है लेकिन इसकी भी कुछ नियम और कायदे होते हैं। वहीं संसदीय मामलों के मंत्री ने प्रस्ताव स्वीकार करने के पीछे दलील देते हुए कहा है कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टिप्पणी करने पर बीजेपी आ’क्राम’क हो जाती है तो फिर मुख्यमंत्री पर टिप्पणी करने पर कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए।

इसके साथ ही विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि सदन में चल रहे सत्र का यह आखिरी दिन था। इस दौरान देश में पहली को’रोना महामा’री और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की जानी चाहिए थी। इसी के चलते उन्होंने सत्तारूढ़ गठबंधन पर मीडिया की अ’भिव्य’क्ति की स्व’तंत्र’ता के लिए दो मुखी दृष्टिकोण अपनाने का आ’रो’प लगाते हुए सरकार पर गं’भी’र आ’रो’प लगाए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *