जजपा अध्यक्ष का बड़ा बयान- दुष्यंत चौटाला का इस्तीफा मेरी…

February 15, 2021 by No Comments

हरियाणा के चरखी दादरी में आज किसान महापंचायत का आयोजन किया गया था। जिसमें संयुक्त किसान मोर्चा के दर्शन सिंह पाल ने कहा है कि बीते दिनों हरियाणा की किसान विरोधी सरकार को हटाकर एनडीए को झटका देने की जरूरत का मुद्दा उठाया गया था। राज्य में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ इस संदर्भ में किसानों की पंचायतें की जा रही हैं। प्रदर्शन किए जा रहे हैं अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या हरियाणा सरकार वाकई में ख’तरे में है।

बीते कुछ समय में हरियाणा के लिए किसान आंदोलन की रणनीति में बदलाव भी आया है। बताया जाता है कि किसानों ने अब 36 बिरादरी को जोड़कर आंदोलन में शामिल के लिए अभियान छेड़ दिया है। दरअसल किसान संगठनों के नेताओं को यह लग रहा है कि जब तक 36 बिरादरी के नेताओं को आंदोलन में शामिल नहीं किया जाएगा तब तक सरकार पर दबाव नहीं बनाया जा सकता।

इस सब के बीच राज्य के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला पर भी सरकार से इस्तीफा देने और अलग होकर कृषि कानूनों का समर्थन करने का दबाव बनाया जा रहा है। आपको बता दें कि जननायक जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय चौटाला ने हरियाणा के सांसदों पर भी दबाव बनाते हुए कहा है कि केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को बनाया है।

इस वजह से हरियाणा के सभी 10 सांसदों और राज्यसभा सांसदों को इस्तीफा दे देना चाहिए ना कि राज्य के किसी मंत्री को। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि दुष्यंत का इस्तीफा मेरी जेब में है और अगर उसके इस्तीफा देने से किसान आंदोलन का हल निकलता है तो अभी इस्तीफा दे देता हूं।

गौरतलब है कि इंडियन नेशनल लोक दल के विधायक अभय सिंह चौटाला ने कृषि कानूनों के विरो’ध में और किसान आंदोलन के समर्थन में इस्तीफा देकर दुष्यंत चौटाला पर दबाव बढ़ा दिया था। अभय चौटाला ने कहा था कि मुझे कुर्सी नहीं मेरे देश का किसान खुशहाल चाहिए।

एक बात साफ है कि हरियाणा में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसे में किसानों का दबाव पड़ने पर अगर दुष्यंत चौटाला अलग हुए तो खट्टर सरकार संकट में आ सकती है। हालांकि इस बारे में जब किसान नेता टिकैत से पूछा गया तो उनका कहना था हमें सरकार से नहीं मतलब वह किसी को हो हमारा वि’रोध कृषि कानूनों से है और हम उनकी वापसी के बगैर पीछे नहीं हटेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *