किसानों के समर्थन में जजपा नेता ने दिया इस्तीफा, मुश्किल में आई खट्टर सरकार…

December 23, 2020 by No Comments

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए हरियाणा में कई खाप पंचायतों ने भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसके साथ ही के नेताओं ने हरियाणा में भाजपा की सहयोगी पार्टी जजपा को भी अल्टीमेटम दे दिया है कि अगर किसानों के साथ न्याय नहीं हुआ तो उनके पार्टी को समर्थन नहीं मिलेगा। बताया जा रहा है कि किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए राजनीतिक पार्टियों के पदाधिकारियों द्वारा इन दिनों अपने पदों से त्यागपत्र देने का सिलसिला निरंतर जारी है।

इसी कड़ी में अब जजपा के दादरी से युवा हलका अध्यक्ष योगेश इमलोटा ने अपने त्यागपत्र देते हुए पार्टी से हर रिश्ता तोड़ लिया है। आपको बता दें कि योगेश इमलोटा ने बयान जारी करते हुए कहा है कि इस कड़ाके की ठंड में देश के किसान सिंघु बॉर्डर पर संघर्ष कर रहे हैं।

किसानों की मांगों को लेकर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला द्वारा ना तो कोई समर्थन दिया जा रहा है और ना ही वह इस मामले में कोई प्रतिक्रिया दे रहे हैं। जबकि वह खुद भी एक किसान हैं और किसानों की मांगों को लेकर पार्टी में नहीं रह सकते। इसलिए जजपा की युवा हलका अध्यक्ष द्वारा इस्तीफा देते हुए पार्टी से हर रिश्ता तोड़ लिया गया है।

योगेश इमलोटा का कहना है कि वह जल्द ही अपने सभी युवा साथियों के साथ टिकरी बॉर्डर पर जाएंगे और किसान आंदोलन में हिस्सा लेंगे। दिल्ली से सटे हरियाणा और यूपी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन का रविवार को 25वां दिन था। सरकार ने रविवार रात को प्रदर्शन कर रहे किसानों को अगले दौर की बातचीत का न्योता दिया। सरकार ने चिट्ठी लिखकर किसानों से ही बातचीत की तारीख तय करने को कहा है। इससे पहले, किसानों ने रविवार को अपील की कि 27 दिसंबर को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रेडियो पर मन की बात करें, तो सभी अपने-अपने घरों में थाली बजाएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *