जया बच्चन के ब’यान पर तहसीन पूनावाला का ट्वीट हुआ वाय’रल, कहा “एक सां’सद कैसे..”

December 3, 2019 by No Comments

कल सदन में सभी महिला सांसद विच’लित नज़र आयीं और सभी ने महिलाओं की सुर’क्षा का मु’द्दा उठाते हुए भावु’क भी हो रही थीं ऐसे में जया बच्चन ने एक ऐसा ब’यान दिया जिसकी तारीफ़ और आलो’चना साथ हो रही है। तहसीन पूनावाला जो एक पॉलि’टिकल विश्ले’षक हैं, और अभी हाल ही में बिग बॉस 13 का हि’स्सा भी रह चुके हैं, उनका ट्वि’टर पर किया गया एक ट्वी’ट इन दिनों बहुत ज़्यादा सु’र्खियों में छाया हुआ है।

बता दें कि यह ट्वीट तहसीन पूनावाला ने समाजवादी पा’र्टी की सांसद जया बच्चन द्वारा राज्यसभा में दिए गए एक ब’यान के संद’र्भ में किया है। आपको बता दें कि हैदराबाद में 26 व’र्षीय वेटेनरी डॉक्टर के साथ हुई रे’प और बाद में श’व को पेट्रोल डा’लकर आ’ग के हवा’ले कर देने की हैवा’नियत पर राज्यसभा में स’पा सांसद जया बच्चन ने ब’यान देते हुए कहा था कि “हैदराबाद में जिस तरह से घ’टना हुई है, उसमें शा’मिल लोगों को, पब्लिक के ह’वाले कर देना चाहिए, उनका कहना था कि, यह काफी क’ठोर व्यव’हार होगा, लेकिन इन लोगों को पब्लिक के हवा’ले कर देना चाहिए, जिससे पब्लिक ही इन्हें स’ज़ा दे।”

Jaya Bachhan

जया बच्चन के इसी ब’यान पर पॉलिटि’कल विश्ले’षक तहसीन पूनावाला ने सोशल साइट ट्विटर के माध्यम से अपना ग़ु’स्सा जाहिर करते हुए ट्वीट किया है कि “यह सांसद ही सम’स्या हैं। जया बच्चन जैसे क़ा’नून निर्माता, क़ा’नून का सुधा’र करने की जगह, विशेष अदा’लतों में त्व’रित कार्य’वाही और वैज्ञा’निक जां’च की बजा’य, वह लोगों को भी’ड़ के हवा’ले करना चा’ह रहे हैं। यह काफी है’रान करने वाला है। यह चीज़ वास्तव में क़ा’नून व्यवस्था को और भी बे’कार बना देगा।”

इसके अलावा तहसीन पूनावाला ने जया बच्चन के ब’यान पर एक और ट्वीट करते हुए कहा है कि “एक सांस’द लिं’चिंग के लिए कैसे बोल सकती हैं? क्या हमने कभी सोचा है कि अगर ग़ल’त व्यक्ति इस मामले में फं’स जाए तो क्या होगा? क्या हम प्राचीन समाज में हैं? हमें ते’ज़ी से कार्यवाही करने के लिए क़ा’नून की आवश्यकता है लिंचिं’ग की नहीं। स्कैंडिनेवियन और यूरोपियन देशों में भी लिं’चिंग जैसा कुछ नहीं है। फिर भी वहां रे’प कम क्यों हैं? तहसीन पूनावाला का ये ट्वीट ते’ज़ी से वाय’रल होते हुए, खूब सुर्खियां बटोर रहा है। और लोग भी इस पर बढ़ च’ढ़कर प्रति’क्रिया दे रहे हैं।