इज़राइल की राजधानी तक पहुँचा हमा’स का रॉकेट, ब्रिटिश एयरवेज़ ने किया ये…

May 13, 2021 by No Comments

शेख़ जर्राह में 6 फ़िलिस्तीनी परिवारों के अधिकारों से जुड़ा वि’वाद अब इज़राइल की सड़कों तक पहुँच गया है. इज़राइल द्वारा ग़ाज़ा पर की गई ब’मबारी और हमा’स द्वारा राकेट से इज़राइली क्षेत्र पर हम’ला मामले को अब बढ़ाता ही जा रहा है. नैतिक तौर पर सभी इस बात को मानते हैं कि शेख़ जर्राह में 6 फ़िलिस्तीनी परिवारों को ही ज़मीन का मालिक माना जाना चाहिए लेकिन इज़राइल के क’ट्टर द’क्षिण पंथी नेता इसमें राजनीतिक रोटि’याँ सेंक’ना चाहते हैं तो वो इस मामले को तूल दे रहे थे.

पूर्वी जेरुसलम के मशहूर दमिश्क गेट को बंद करना और रमज़ान के दिनों में अल अक़सा मस्जिद में 10000 लोगों की लिमिट लगाना भी अहम् कारण बनकर उभरे हैं. हालाँकि मौजूदा टकराव तब शुरू हुआ जब इतमिर बिन ग्वीर नामक कट्टर यहूदी इज़रायली संसद सदस्य ने शेख़ जर्राह जाकर फ़िलिस्तीनी लोगों को उकसाया.

जानकार मानते हैं कि इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू और फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास दोनों अपना राजनीतिक भविष्य बचाना चाहते हैं इसलिए उन्होंने भी इसे एक विवाद को रोकने की कोशिश नहीं की. जहाँ नेतान्याहू 2 साल में चार चुनाव के बाद भी सरकार बनाने में नाकाम रहे हैं वहीं अगले चुनाव में उनके दल को बहुमत के आस-पास सीटें मिलें इसलिए उन्हें भी इस तरह के माहौल का सहारा है.

वहीं फ़िलिस्तीनी राष्ट्रपति अब्बास को मालूम है कि उनकी पार्टी ‘फ़तह’ फ़िलिस्तीन में अपना जनाधार पूरी तरह से खो चुकी है और चुनाव होने पर हमा’स की जीत होगी, इसलिए वो चुनाव को टालना चाहते हैं. इस बीच मामला अब विवाद और हल्के-फुल्के टकराव से आगे बढ़ गया है. इज़राइल ने ग़ाज़ा में हमा’स के ठिकानों पर ह’मला किया और इन ह’मलों में हमा’स के कमांडर्स तो मा’रे गए हैं, साथ ही 24 से अधिक आम शहरी और बच्चे भी इन ह’मलों में मा’रे गए हैं. दूसरी ओर इज़राइल भी ह’मास के रॉकेट ह’मलों से जू’झ रहा है.

ह’मास के रॉकेट ह’मलों में भी कई इज़राइली घायल हुए हैं और 5 लोगों के मा’रे जाने की भी ख़बर है. इसके अतिरिक्त अब इज़राइल के शहरों में भी अरब और यहूदी समाज में विवाद देखने को मिल रहा है. कई शहरों में दंगों की घटनाएँ हुई हैं. हमा’स के रॉकेट तेल अवीव पहुँचने से इज़रायली सरकार परेशान दिख रही है वहीं ब्रिटिश एयरवेज़ ने तेल अवीव में अपनी सभी उड़ानें कैंसिल कर दी हैं. वैश्विक स्तर पर कोशिशें तेज़ हैं कि किसी तरह ये मामला जल्दी सुलझे. कई देशों को डर है कि कहीं ये पूरी तरह से युद्ध में न बदल जाए. ख़बरों के मुताबिक़ हमा’स और इज़राइल दोनों को बातचीत पे वापिस लौटने के लिए मनाने की कोशिश तेज़ हो गई हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *