इस नेता ने शिवसेना को दी है उम्मीद, आदित्य ठाकरे इसी वजह से हो सकते हैं CM

November 8, 2019 by No Comments

भाजपा के बारे में कहा जाता है कि मौजूदा दौर में ये हारे हुए चुनाव को भी जीत जाती है लेकिन इस बार भाजपा की जीत तो हुई लेकिन उसके हाथ कुछ भी नहीं आया। भाजपा-शिवसेना में चुनाव नतीजों के बाद से ही मुख्यमंत्री पद को लेकर बहस छिड़ गई। भाजपा इस बात को लेकर तैयार नहीं थी कि शिवसेना को भी ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद दिया जाए। शिवसेना लेकिन अपनी माँग पर अड़ी हुई थी और आख़िर देवेंद्र फडणवीस को इस्तीफ़ा देना पड़ा।

अब ये माना जा रहा है कि शिवसेना जल्द ही कांग्रेस-एनसीपी के साथ गठबंधन करके सरकार बना लेगी। एनसीपी और शिवसेना विरोधी रहे हैं लेकिन दोनों ही पार्टी के नेताओं के संबंध हमेशा ठीक ही रहे हैं। शिवसेना एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार की इज़्ज़त करती है और कई अहम मौक़ों पर उनका खुल कर समर्थन करती रही है। पवार की इज़्ज़त कांग्रेस के शीर्ष नेता भी करते हैं, ऐसा माना जाता है कि शरद पवार अगर चाह लेंगे तो कांग्रेस शिवसेना को बाहर से समर्थन दे देगी।

ऐसा हुआ तो सत्ता सुख से भाजपा महाराष्ट्र में दूर हो जाएगी। हालाँकि पवार अभी तक कह रहे हैं कि भाजपा-शिवसेना को साथ मिलकर सरकार बनानी चाहिए लेकिन शिवसेना जैसे ही आधिकारिक तौर पर प्रपोज़ल लाएगी पवार का रूख़ बदल सकता है। शिवसेना को भरोसा है कि वो एनसीपी अध्यक्ष को मना लेगी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री की कुर्सी आदित्य ठाकरे के पास आएगी।

उल्लेखनीय है कि आज देवेन्द्र फडनवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. फडनवीस ने इस्तीफ़ा देने के बाद कांफ्रेंस की और महाराष्ट्र के सियासी संकट को लेकर शिवसेना पर निशाना साधा. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने भी पलटवार करते हुए कहा कि मैंने बालासाहब से वादा किया था कि एक दिन शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा और मैं वो वादा निभाऊँगा… मुझे अमित शाह या देवेंद्र फडणवीस की ज़रूरत नहीं है.