इस मुस्लिम देश ने दिखाया गज़ब का अनुशा’सन,कोरोना को रोककर दुनिया के लिए बना मिसाल

April 18, 2020 by No Comments

अमेरिका जैसी महाशक्ति कोरोना से लड़’ने में खुद को लाचार पा रही है,दूसरी ओर ओमान जैसे मुस्लिम देश में गजब का अनुशा’सन दिखाई देता है।वहां लोगों ने ही खुद को घरों तक सीमित करके रख लिया है।सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ रहता है,यहां तक कि पुलि’स भी दिखाई नहीं देती। स्कूल बंद हैं,लेकिन ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं।

राजधानी मस्कट के एक इंडियन स्कूल में सुपरवाइजर अनिल बरतरे ने फोन पर मीडिया को बताया कि यहां भी कोरोना का असर दिखाई दे रहा है,लेकिन यहां की सरकार और लोग बड़े ही धैर्य से इससे लड़ रहे हैं।दुनिया के अनेक देशों में सरकारों को लॉकडा;उन करवाने में बड़ा परिश्रम करना पड़ रहा है,लेकिन यहां लोगों ने स्वेच्छा से ही उसे अपना लिया और स्व-अनुशासित तरीके से सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए उन सभी सतर्कताओं का पालन करना आरंभ कर दिया,जो कोरोना को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक मानी गई हैं।

अनिल बताते हैं कि बहुत आवश्यक होने पर ही लोग घर से बाहर निकलते हैं। लोग मास्क और हैंड ग्लव्स पहनने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन कर रहे हैं। दुकानों में स्वेच्छा से कतार पंक्ति में निर्धारित दूरी में खड़े होना और समय-समय पर सैनिटाइजर का उपयोग करना यहां के निवासियों को किसी ने ब’लपू’र्वक नहीं सिखाया है,अपितु उन्होंने स्वयं ही इसे अपना लिया है। यही कारण है कि यहां कोरोना का प्रकोप नियंत्र’ण से बाहर नहीं हुआ है।उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही यह मुश्किल वक्त भी निकल जाएगा।

बरतरे कहते हैं कि भारत समेत अन्य देशों की सरकारों को जहां अपनी अधिकतम ऊर्जा लॉकडा’उन का पालन करवाने में लगानी पड़ रही, जबकि यहां ऐसी कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा कि आश्चर्य की बात तो यह है कि अनुशा’सन का पालन करने वाले यह लोग कहीं और से नहीं अपितु भारत,पाकिस्तान बांग्लादेश,फिलीपींस,श्रीलंका जैसे उन देशों से ही हैं,जहां लॉकडा’उन का सही अर्थ अभी तक लोग नहीं समझे हैं।उन्होंने बताया कि मस्कट ओमान का एक सुंदर शहर है।आमतौर पर ओमान मीडिया की सुर्खियों में नहीं रहता।ओमान की कुल जनसंख्या लगभग 50 लाख है,जिसमें लगभग 12% भारतीय हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *