UAE से आई राहत भरी खबर, दुबई में वैक्सीन का हुआ…

July 20, 2020 by No Comments

कोरोना के डर के साए में जी रहे लोग बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। दुनिया भर में कोरो’ना काल के इस दौर में संक्रमि’त म’रीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। दुनिया के कई बड़े देश कोरोना की वैक्सीन बनाने को लेकर बड़ी घोषणा कर चुके हैं। इस दौरान यूनाइटेड अरब एमिरेट्स में दुनिया के पहले कोरो’ना वैक्सीन के फेज-3 क्लीनिकल ट्रायल की शुरुआत हो चुकी है।

कोरो’ना संक्रम’ण के इस दौर में पूरी दुनियां के साइंटिस्ट कोरो’ना की वैक्सीन की खोज में लगे हुए हैं। बताया जा रहा है कि यूनाइटेड अरब एमिरेट्स में कोरो’ना दवा इनएक्टिवेटेड के लिए पहली बार स्टेज-3 क्लीनिकल ट्रायल की शुरुआत भी हो चुकी है। इस परीक्षण को चीन की लीडिंग फार्मासूटिकल कंपनी सिनोफार्म और दुबई स्थित G42 हेल्थकेयर से पार्टनरशिप कर इस परीक्षण के शुरुआत की गई है।

सूत्रों के मुताबिक़ यूनाइटेड अरब एमिरेट्स के नागरिकों और मजदूरों के साथ 15,000 रजिस्टर्ड स्वयंसेवकों के पहले दल को गुरुवार को अबू धाबी के एक उपचार केंद्र शेख खलीफा मेडिक’ल सिटी में दवा दी गई। वहीं बीजिंग में मौजूद दवा विशेषज्ञ ताओ लीना के द्वारा मीडिया को बताया गया की, आमतौर पर कोरो’ना संक्र’मण ज्यादातर घ’टनाओं वाले हिस्सों में द’वा के प्रभावों को देखने के लिए क्लीनिकल परीक्षण जल्दी होता है।

इसके साथ ही G42 ने बयान दिया कि, संयुक्त अरब अमीरात के स्वास्थ्य विभाग के अध्यक्ष शेख अब्दुल्ला बिन मोहम्मद अल हमीद दवा ट्रा’यल में भाग लेने वाले पहले लोगों में सम्मिलित थे। विशेषज्ञों द्वारा बताया गया कि, परीक्षण ने यूएई के स्वास्थ्य अफसरों के चीन के माध्यम से विकसित टीकों पर विश्वास जताया है। वही चीन के साथ मिलकर सहयोगात्मक कोशिश के ज़रिए कोरो’ना महामा’री को दूर करने के लिए काम करने की उसकी प्र’तिब’द्धता को दर्शाया।

उम्मीद की जा रही है, जल्द ही कोरो’ना की दवा को खोज लिया जाएगा। बता दें कि इससे पहले रोशनी भी करो ना वैक्सीन बना लेने का दावा किया है। रूस का कहना है कि उनके द्वारा बनाई गई कोरोना वैक्सीन का उम्र एंड्रॉयड भी शुरू किया जा चुका है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *