गुजरात में कांग्रेस और AIMIM ने बढ़ाई भाजपा की परेशानी, इस निकायों में कांटे की टक्कर…

February 22, 2021 by No Comments

एक तरफ जहां देश में फिर से कोरोना म’हामा’री दस्तक दे दी है। वहीं के राज्यों में विधानसभा चुनाव और उपचुनाव के साथ-साथ निकाय चुनाव भी हो रही है। गुजरात में कोविड-19 महामा’री के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा के बीच 6 नगर निगमों में चुनाव के लिए मतदान हो चुका है। दरअसल अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, राजकोट, जामनगर और भावनगर के छह नगर निगमों के 144 वार्डों में सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ जोकि शाम छह बजे तक जारी रहा।

इस मामले में मतदान संपन्न होने के बाद राज्य चुनाव आयोग की वेबसाइट पर सामने आए आंकड़ों के मुताबिक अहमदाबाद में सबसे कम 38.73 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। जबकि सबसे अधिक 49.86 फीसदी वोट जामनगर में पड़े। इसी तरह, राजकोट में 47.27 फीसदी, भावनगर में 43.66 फीसदी, सूरत में 43.52 फीसदी और वडोदरा में 43.47 फीसदी मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया।

बताया जा रहा है कि गुजरात निकाय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी और विपक्षी दल कांग्रेस के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल सकता है। दरअसल भाजपा का पिछले के कार्यकाल से इन 6 नगर निगमों में शासन तो रहा है। लेकिन इस बार सियासी समीकरण बदल सकते हैं। इसी बीच आम आदमी पार्टी ने भी है दावा किया है कि भाजपा और कांग्रेस के सामने एक प्रभावी विकल्प होगा। वही असादुद्दीन ओवैसी की ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने भी पहली बार गुजरात निकाय चुनाव लड़े हैं।

गुजरात निकाय चुनाव में कम वोटिंग प्रतिशत ने सत्तारूढ़ पार्टी की चिंता बढ़ा दी है। राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, चुनाव में भाजपा के मतदाताओं में आम आदमी पार्टी सेंध लगा सकती है। वहीं, कांग्रेस के वोट में ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम घुसपैठ कर सकती है। ऐसी हालत में भाजपा के लिए निकाय चुनाव की राह आसान नजर नहीं आ रही। दूसरी ओर, कांग्रेस ने कम वोटिंग प्रतिशत के लिए भाजपा से जनता की नाराजगी को जिम्मेदार ठहराया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *