असम में भाजपा के वोट झटकने के लिए तेजस्वी का साथ लेगी कांग्रेस? राजद ने बनाया..

February 27, 2021 by No Comments

बिहार में भले ही एनडीए की सरकार सत्तारूढ़ हो। लेकिन राष्ट्रीय जनता दल बिहार विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। खासतौर पर राजद नेता तेजस्वी यादव की साख पहले के मुकाबले काफी बढ़ चुकी है। माना जा रहा है कि तेजस्वी की अगुवाई में राजद अब असम में भी भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ाने का काम कर सकती है।

दरअसल पूर्वोत्तर के किस राज्य में मार्च-अप्रैल में चुनाव होने वाले हैं। जिसकी तारीखों का ऐलान किया जा चुका है। बताया जाता है कि तेजस्वी यादव अब गुवाहाटी में है राजा सूत्रों की मानी जाए तो पार्टी के असम विधानसभा चुनाव लड़ने की संभावना बन रही है। यहां पर तेजस्वी यादव फिलहाल सहयोगी दल की तलाश कर रहे हैं। बिहार की तरह इस राज्य में भी कांग्रेस के नेतृत्व में 6 दलों का महागठबंधन हो चुका है। कयास लगाए जा रहे हैं कि राजद भी इस महागठबंधन का हिस्सा बन सकता है। आपको बता दें कि कांग्रेस और राजद चुनावी तालमेल के लिए राष्ट्रीय स्तर पर गठजोड़ में रह चुकी है।

तेजस्वी यादव ने इसी के चलते कांग्रेस नेताओं के साथ मुलाकात भी की है। उनकी मुलाकात के बाद यह क्या सकता होने लगे हैं। दरअसल आसाम में कुछ ऐसे इलाके भी हैं जहां पर भोजपुरी वोट बैंक है। यहां पर तेजस्वी यादव को स्टार प्रचारक के रूप में कांग्रेस द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है।

माना जा रहा है कि इन मतदाताओं का रूख भाजपा की ओर ही रहा है। लेकिन अगर तेजस्वी यादव मैदान में उतरते हैं तो इनका भाजपा के प्रति आकर्षण कम हो सकता है। तेजस्वी ने बीजेपी के पूर्व साथी हगराम मोहिलरी के नेतृत्व वाले बोडोलैंड पीपल्स फ्रंट (BPF) के साथ भी संबंध बना रखा है।

साल 2020 के अंत में हुए आखिरी बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल (BTC) चुनावों में बीजेपी ने BPF को धूल चटा दी थी और हगराम को सत्ता से बाहर कर यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल के साथ चुनाव बाद गठबंधन कर लिया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *