रो’ज़े की हालत में क्या करवा सकते है को’रोना टेस्ट, देवबंद ने दिया फ’त’वा..

April 29, 2020 by No Comments

भारत समेत दुनिया भर में आजकल मु’सलमानों का पवित्र महीना र’मजा’न चल रहा है। कोरोना वा’य’रस के चलते तमाम रो’जे’दार क्वॉ’रेंटाइ’न में है। इस दौरान कुछ मुद्दों को लेकर रो’जे’दार असमंजस में है लेकिन अब दा’रुल उ’लू’म ने फ’त’वा जारी कर इन रोजेदारों की अस’मंजस को दूर करने और इस पर स्थिति साफ की है।

फ’त’वे में कहा गया है कि रो’जे की हालत में को’रो’ना वा’य’रस का टेस्ट करवाने से रो’जे पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इस संदर्भ में दा’रुल इ’फ्ता के मु’फ्ति’यों की खं’डपी’ठ ने फ’त’वे में कहा कि को’रो’ना टेस्ट के लिए ना’क और मुं’ह से सैंपल देने में कोई ह’र्ज नहीं है। इसके साथ ही ये भी कहा है कि खां’सी और छीं’क आने पर भी रो’जा नहीं टू’टेगा।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के बिजनौर के एक गांव के निवासी अरशद अली ने दा’रुल उ’लूम के स्तर विभाग से यह सवाल किया था कि क्या रो’जे की हालत में को’रो’ना वा’य’रस का टेस्ट कराया जा सकता है। जिसके चलते दा’रुल इ’फ्ता के वरिष्ठ मु’फ़्ती मु’फ्ती ह’बीबु’र्रह’मान और मुफ्ती महमूद बु’लंदश’हरी की अध्यक्षता में चार सदस्यीय खंडपीठ ने फ’तवा संख्या एन-549 के माध्यम से अपने जवाब में फ’त’वा जारी करते हुए बताया कि को’रो’ना टेस्ट के लिए नाक और ह’लक (मुं’ह) में रुई लगी स्टिक लगाई जाती है।

जिस पर किसी तरह की कोई दवा या के’मि’कल नहीं लगी होती। आपको बता दें कि खं’डपी’ठ ने जारी फ’तवे में बताया कि यह स्टि’क भी सिर्फ एक बार ही नाक और मुं’ह में लगाई जाती है। जिसमे नाक और ह’ल’क की रतू’ब’त (गी’ला अंश) स्टि’क पर लग जाने के बाद उसे मशीन के माध्यम से चे’क किया जाता है। इसलिए को’रो’ना सं’क्रम’ण के टेस्ट से रो’जे पर कोई असर नहीं पड़ता।

गौरतलब है कि चीन से पहले इस ख’तरना’क करो’ना सं’क्रम’ण की वजह से भारत समेत दुनिया भर के देशों में अब तक लाखों जा’ने जा चुकी हैं। इस ख’तरना’क सं’क्रम’ण की वजह से ज’नजीव’न बु’री तरह से प्रभावित हुआ है। भारत में अभी तक लॉक डा’उन की स्थिति बनी हुई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *