अक्सर हम फ़िल्मों में ऐसे अनोखे इंसान देखते हैं, जिन्हें म्यु’टेंट के नाम से पुकारा जाता है। जो आम इंसानों से हटकर और अलग होते हैं। ख़ासकर अवें’ज़र्स फ़िल्म की सीरीज़ जिसमें सारे सुप’र हीरो’ज़ आम इंसानों से हटकर कुछ विशेषताएं लिए होते हैं। लेकिन हम फ़िल्मों की नहीं बल्कि असल ज़िंदगी की बात कर रहे हैं। ये ख़बर है उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के प’डरौना में रहने वाले जमा’लुद्दीन आम होकर भी ख़ास हैं।

इस बात का पता तब चला जब एक दिन जमा लुद्दीन पेट द’र्द से परे’शान होकर गोरख़पुर के एक डॉक्टर के पास गए और डॉक्टर ने जमा’लुद्दीन को एक्स-रे और अ’ल्ट्रासाउंड कराया।

लेकिन जब डॉक्टर ने एक्सरे और अल्ट्रा’साउंड की रिपोर्ट देखी तो वह दं’ग रह गए। डॉक्टर की रि’पोर्ट के अनुसार जमा’लुद्दीन के शरीर की अंदरूनी बनावट आम इंसान से बिल्कुल अलग है। उसका हर हिस्सा अलग जगह पर है।

जी हाँ, जमा’लुद्दीन का दिल दाहि’नी तरफ धड़’कता है, जबकि लीवर और गॉ’लब्लेड’र (पित्ताशय) बाईं तरफ़ हैं। डॉ.शशि’कांत दीक्षित जो कि एक बेरि’याट्रिक लेप्रोस्को’पिक स’र्जन हैं.

उन्होंने जानकारी दी कि शरीर के सभी अंग ग़ल’त जगह पर होने का पहला मामला 1645 में सामने आया था। और ऐसे व्यक्तियों का इलाज और सर्ज’री दोनों ही बहुत ज़्यादा मुश्क़ि’ल होती है।

डॉ.शशिकांत ने कहा कि जहां तक जमा’लुद्दीन के पेट द’र्द की सम’स्या की बात है तो, ‘हमें उनके पित्ता’शय में पथ’री मिली है।

लेकिन अगर पित्ता’शय बाएं ओर स्थित है तो पत्थ’रों को बाहर निकालना बेहद मुश्क़ि’ल है। हमें प्रो’स्कोपिक मशी’न की मदद लेनी होगी। यह मामला अपने आप में अनोखा, अकल्पनीय और अद्भुत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *