देश को जल्द मिल सकती है गुड न्यूज, भारत में विकसित कोरोना वैक्सीन 60 फीसदी..

November 22, 2020 by No Comments

दुनिया भर में पहले को’रोना’वाय’रस के लिए वैक्सीन बनाए जाने की कवायद जोरों शोरों से चल रही है। दुनिया भर के कई बड़े देश जल्द से जल्द कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा कर रहे हैं। इसी बीच भारत के हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने भी दावा किया है कि इस महीने की शुरुआत में वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण शुरू कर दिया गया है। आपको बता दें कि इस वैक्सीन का नाम COVAXIN है।

भारत बायोटेक की तरफ से बनाई जा रही वैक्सीन को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च और नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वा’यरोलॉ’जी के सहयोग से विकसित किया जा रहा है। भारत बायोटेक की तरफ से किए जा रहे दावे के मुताबिक कोविड-19 के लिए बनाई जा रही COVAXIN कम से कम 60 फ़ीसदी असरदार होगी यह असर इससे ज्यादा भी होने का दावा किया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि COVAXIN के स्टोरेज के लिए 2-8 डिग्री सेल्सियस तापमान की जरूरत होगी। अभी भारत बायोटेक के पास तीस करोड़ खुराक के उत्पादन की क्षमता है। जिसे अगले साल तक बढ़ा कर पचास करोड़ किया जा सकता है। कंपनी ने वै’क्सीन की कीमत का खुलासा नहीं किया है।

इस वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल में भारत में 25 केंद्रों पर 26000 वालंटियर्स को शामिल किया जा चुका है। ये ट्रायल्स हैदराबाद, रोहतक, गोवा, नागपुर, भुवनेश्वर, अलीगढ़, आदि कई शहरों में शुरू हो चुके हैं। कई अन्य केंद्रों पर अगले हफ्ते ट्रायल शुरू होंगे। यह भारत में अब तक बनाई गई किसी भी कोविड-19 वैक्सीन के लिए सबसे बड़ा क्लि’निक’ल ट्रायल माना जा रहा है। यही नहीं भारत में कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे चरण में असर को जानने के लिए भी है पहली स्टडी है।

बताया जा रहा है कि ट्रायल के दौरान वै’क्सीने’शन से गुजरे वॉलिंटियर्स को अगले साल तक मॉनिटर किया जाएगा। ऐसा इसलिए किया जाएगा ताकि पता लगाया जा सके कि कहीं उनमें कोविड-19 बीमारी दोबारा तो नहीं हो रही।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *