पालघर: सा’धु’ओं की ह’त्या को सां’प्रदा’यिक रं’ग दिए जाने पर गु’स्सा’ए उद्धव ठाकरे,किया ये दावा..

April 20, 2020 by No Comments

महाराष्ट्र के पालघर में दो सा’धु’ओं और उनके ड्राइवर की पी’ट-पी’ट’कर हुई ह’त्या मामले में राज्य में सत्तारूढ़ ठाकरे सरकार सवालों के घे’रे में आ गई है। सोशल मीडिया पर इस घटना को सां’प्रदा’यिक हिं’सा का रं’ग दिए जाने की कोशिश है भी की जा रही है। हालांकि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इसे सां’प्रदा’यि’क हिं’सा ना मानते हुए कहा है कि इस मामले में अब तक 100 से ज्यादा लोगों को गि’रफ्ता’र कर लिया गया है।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि बीते कुछ दिनों से इस इलाके में ब’च्चा चो’री की अ’फवा’ह फै’ली थी। गुरुवार की रात मुंबई से दो सा’धु और उनके ड्राइवर सू’रत जा रहे थे। इस दौरान पालघर के गणचिंचले गांव के पास भी’ड़ ने ब’च्चा चो’र होने के श’क में इनकी गाड़ी को रुक’वा लिया और इनकी पी’ट-पी’ट की ह’त्या कर दी।

बताया जा रहा है कि इस घ’टना में मा’रे जाने वाले सा’धु’ओं के नाम सुशीलगिरी महाराज और कल्पवृक्षगिरी महाराज थे। आपको बता दें कि पु’लिस ने कार्रवाई कर 110 लोगों को गिर’फ्ता’र कर लिया है और इ’ला’के में पु’लि’स के दो अधि’का’रियों स’स्पें’ड भी किया गया है। लेकिन रविवार शाम से सोशल मीडिया पर झू’ठ चलाया जा रहा है और इस घ’टना को सां’प्रदा’यिक रंग देने के लिए सोशल मीडिया साइट पर अलग अलग तस्वीरें साझा की जा रही हैं।

जिसमें बताया जा रहा है कि कैसे एक ध’र्म से जुड़े लोगों की ह’त्या हो रही है। इस मामले के दो दिन पहले भी मंगलवार के दिन इलाके में ज़’रूरत’मंदों को खाना देकर घर लौट रहे डॉक्टर विश्वास वलवी को भी चो’र समझकर लोगों ने रो’क लिय था और पु’लि’स पर भी प’थरा’व किया गया। इस मामले में उद्धव ठाकरे सरकार पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जहां महाराष्ट्र सरकार पर कई सवाल उठाए हैं। वि’प’क्ष के सवाल और सोशल मीडिया पर चल रहे झू’ठ को लेकर राज्य सरकार की ओर से भी ट्वीट किया गया। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जहाँ ट्वीट कर बताया कि मामले में 100 से अधिक लोगों की गि’रफ्ता’री हो चुकी है तो वहीं गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पूरे मामले का सा’म्प्रदा’यि’क’रण देखते हुए यह तक कह दिया कि मरने और मारने वालों के ध’र्म में कोई अंतर नहीं है और इस मामले का सा’म्प्र’दायि’कर’ण नहीं किया जाना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *