मध्यप्रदेश: सीएम शिवराज पर ल’ट’की त’ल’वार, कांग्रेस के इस दां’व से फिर जा सकती है..

April 22, 2020 by No Comments

बीते दिनों मध्यप्रदेश में बनी शिवराज सरकार द्वारा कल ही मं’त्रिमं’डल का विस्तार किया गया है। इसी बीच खबर सामने आ रही है कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ शिवराज सरकार द्वारा हाल ही में पा’रित दो अ’ध्यादे’शों को असं’वैधानि’क बताया है। इस संदर्भ में राज्यसभा सदस्य और वरिष्ठ अ’धिव’क्ता विवेक तंखा और कपिल सिब्बल ने देश के राष्ट्रपति को पत्र भी लिखा है।

इस पत्र में इन नेताओं ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मांग की है कि राज्यपाल से रिपोर्ट मं’ग’वा कर वह मध्य प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लागू करें। इस मामले में वरिष्ठ अधिवक्ता और राजसभा सांसद विवेक तन्खा ने कुछ दिन पहले भी राष्ट्रपति को पत्र लिखकर बिना कैबिनेट के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा काम किए जाने पर गं’भी’र आ’रो’प लगाए थे।

बताया जा रहा है कि सांसद तन्खा और सिब्बल ने पत्र में मांग की है कि मध्य प्रदेश सरकार को संविधान के अनुच्छेद 164 (1) के तहत तुरंत कम से कम 12 सदस्यीय मंत्रिमंडल बनाने के निर्देश दें। आपको बता दें कि राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कांग्रेस सांसदों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की शपथ के 28 दिन बाद भी कैबिनेट गठित नहीं होने पर भी आ’प’त्ति की थी।

उन्होंने कहा कि बिना कैबिनेट के राजकोषीय नि’र्णय लिए जा रहे हैं। राज्य में टा’स्क फो’र्स का ग’ठ’न किया गया है, जिसमें मुख्यमंत्री सहित भाजपा के वरिष्ठ नेता शामिल हैं। इसमें ये भी कहा गया है कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वाली यह टा’स्क फो’र्स राज्य सरकार को को’विड-19 म’हामा’री से नि’पट’ने के लिए स’ला’ह देने के लिए बनाई गई है।

कांग्रेस सांसदों ने कहा है कि मध्य प्रदेश में सं’वैधा’निक मशीनरी पूरी तरह टू’ट गई है और राज्य में राष्ट्रपति शा’सन लगाना जरूरी हो गया है।
गौरतलब है कि को’रो’ना सं’कट के बीच बीते महीने बीजेपी ने मध्यप्रदेश में कमल नाथ सरकार को गि’रा कर दुबारा स’त्ता काबिज की थी। जिसके बाद से शिवराज सिंह सूबे के मुख्यमंत्री हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *