CM शिवराज ने अपने ही नेताओं के खिलाफ उठाया ऐसा कदम, बढ़ी सिंधिया की टेंशन…

January 2, 2021 by No Comments

मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत से जीत हासिल की है। एक बार फिर राज्य में कांग्रेस सत्ता में दस्तक देने से चूक गई है। अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान कालेधन के लेनदेन का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राज्य में चल रही कई मुद्दों को लेकर काफी गंभीर नजर आ रही है। अब सामान्य प्रशासन विभाग ने आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो को पत्र लिखकर इस मामले में कार्रवाई करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि इस बीच शिवराज सरकार में 3 मंत्रियों समेत कांग्रेस नेताओं की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल सामान्य प्रशासन विभाग ने आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो के डीजी को पत्र लिखकर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

जिसके बाद अब शिवराज सरकार के तीन मंत्रियों और ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक बिसाहूलाल सिंह प्रद्युमन सिंह तोमर और राजवर्धन सिंह दत्तीगांव की मरने की खबर आ रही है। बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग ने इस संबंध में राज्य शासन को पत्र लिखकर मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस और एसीएस गृह राजेश राजोरा को 5 जनवरी तक तलब किया है।

बताया जा रहा है कि आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो में एफआईआर दर्ज करने में अभी तक किसी का भी नाम नहीं लिया गया है। लेकिन तीन आईपीएस अफसर पर गाज गिर सकती है। जिसमें सुशोवन बनर्जी, वी मधुकुमार और संजय के साथ-साथ राज्य पुलिस सेवा के अधिकारी अरुण कुमार मिश्रा का नाम सामने आ रहा है। दरअसल कमलनाथ सरकार के दौरान आयकर विभाग द्वारा डाले गए छापों को लेकर केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड की रिपोर्ट के खुलासे के बाद राज्य में सियासत काफी गरमाई हुई है। बताया जा रहा है कि आए दिन इस मामले में नए खुलासे हो रहे हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *