RSS के प्रो’पेगें’डा का प’र्दाफा’श कर केरल के CM ने बताई स्मृति ईरानी के मदद के दावे की स’च्चाई..

April 10, 2020 by No Comments

केरल के मुख्यमंत्री पिन्नाराई विजयन ने उस रिपोर्ट को सिरे से खा’रि’ज कर दिया है। जिसमें यह कहा जा रहा था कि वायनाड में फं’से अमेठी के कुछ मजदूरों की मदद के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सहायता की।

गौरतलब है कि वायनाड से कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सांसद है। वही स्मृति ईरानी उत्तर प्रदेश के अमेठी से सांसद हैं। दरअसल बीते दिनों आरएसएस के मुखपत्र ऑर्गेनाइजर में एक रिपोर्ट छ’पी थी। जिसका टाइटल स्मृति ईरानी ने अमेठी के मजदूरों की राहुल गांधी की संसदीय क्षेत्र वायनाड में फं’से थे की मदद की।

इस रिपोर्ट में कहा गया था कि स्मृति ईरानी राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में फं’से अमेठी के मजदूरों की मदद कर रही हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि स्मृति ईरानी ने सही समय पर पूरे मामले में ह’स्त’क्षेप किया और 35 मजदूर जोकि मलप्पुरम में फंसे थे, उनकी मदद की। लेकिन इस दा’वे को केरल के मुख्यमंत्री ने ग’ल’त बताया है।

एनडीटीवी में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक केरल के मुख्यमंत्री पिन्नाराई विजयन ने को’रो’ना वा’य’रस को लेकर की गई बैठक के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए इस खबर का खं’डन किया है। उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा है कि जब हमने इसके बारे में जानकारी दी तो पता चला कि 40 प्रवासी मजदूर एक जगह पर एक साथ रह रहे हैं।

पंचायत के अधिकारियों ने उन्हें 25 कि’ट सौं’पी क्योंकि उन्होंने कहा था कि वह खुद से खाना बना लेंगे। उनके पास खाने की कोई कमी नहीं है।’
इसके आगे उन्होंने बताया कि हम यह देख रहे हैं कि ”ऑर्गेनाइजर” द्वारा इसे प्रचार का तरीका अपनाया गया है। जिसके बाद यह फै’ला’या गया कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के समय रहते ह’स्तक्षे’प करते हुए अमेठी के भू’खे म’जदूरों’ की मदद की गई।

मैं एक बात साफ कर देना चाहता हूं कि राज्य सरकार प्र’वा’सी म’जदू’रों और राज्य के लोगों की हर संभव मदद कर रही है। इस समय किसी भी तरह का कोई मु’काब’ला नहीं होना चाहिए और ना ही किसी भी तरह का दु’ष्प्रचा’र।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *