चंद्रशेखर को लेकर दिल्ली पु’लिस से को’र्ट ने पूछा- जा’मा म’स्जि’द क्या पकि’स्तान में है, कही हक की बा’त

January 15, 2020 by No Comments

देश भर में जहाँ नाग रिकता कानू’न का वि’रोध हुआ वही दूसरी तरफ राज धानी दिल्ली में स्थिति जामा म’स्जि’द पर भी इंक लाबी नारे खूब गूंजे. आपको बता दें कि बीते दिनों पुरानी दिल्ली और दरिया गंज इलाके में भी ज़बर दस्त वि’रो’ध प्रद र्शन हुआ था और वहां पर लाखों लोग सड़क पर उतर आये थे. वहीँ इस विरो’ध में हिस्सा लेने के लिए भीम आर्मी के चीफ चंद्रशे खर भी आये थे जिसके बाद पुलि’स ने उन्हें हिरा सत में लेकर तिहा’ड़ जे’ल भेज दिया है. ऐसे में अपनी ज़मा नत को लेकर,उन्होंने तीस हजारी कोर्ट में अ’र्जी दी थी जिस पर सुनाई टालते हुए दिल्ली पु’लिस को काफी फट कार लगाई है. इसके अलावा कोर्ट ने दिल्ली पुलि’स से चंद्र शेखर के खिला’फ दर्ज मुक़ दमे की जान कारी भी मांगी है. इसके अलावा कोर्ट ने चंद्र शेखर को राहत देते हुए कहा है कि वह भी कहीं भी शान्ति के साथ वि’रोध प्रद र्शन कर सकते हैं.

कोर्ट ने यह भी कहा कि दिल्ली की जा’मा म’स्जि’द पाकि स्तान में तो है नहीं जो वहां पर प्रद र्शन करने के लिए हमें अनु मति लेनी पड़े. कोर्ट ने आगे कहा कि पाकि स्तान में भी शांति पूर्ण तरीके से वि’रोध प्रद र्शन होता है. वहीँ को’र्ट ने यह भी सवाल किया कि किस कानू’न की किताब मे लिखा है कि किसी धा र्मिक जगहों के सामने प्रद र्शन नहीं,

किया जा सकता है. चंद्र शेखरको को’र्ट ने एक उभरता हुआ नेता बताया है और कहा है कि विरो’ध को गल’त नहीं ठराया जा सकता है. आपको बता दें कि जब चंद्र शेखर दिल्ली की जामा म’स्जि’द पहुंचे थे तो वहां के लोगों ने उन्हें हाथो हाथ ले लिया था और उनका स्वागत करते हुए कहा था कि उन्होंने ऐसे वक़्त में हमारा साथ दिया है और हमारे साथ खड़े हैं.